शेखपुरा DM के नाम पर साइबर ठगी:फेक व्हाट्सप नंबर से खुद को DM बता अधिकारियों से कर रहे पैसे की डिमांड

शेखपुरा2 महीने पहले

शेखपुरा में शनिवार को साइबर बदमाशों ने डीएम का व्हाट्सएप पर फेक आईडी बना कर जिला स्तर के अधिकारियों से रूपयों की मांग की है। इस बात का खुलासा तब हुआ जब शनिवार की शाम जिला कृषि पदाधिकारी ने इस बात की जानकारी डीएम सावन कुमार को दी। इस तरह का मैसेज साइबर बदमाशों ने एसडीओ ,उत्पाद अधीक्षक सहित कई पदाधिकारियों को भेज कर उनके नाम पर रुपयों की मांग की।

घटना का खुलासा होने के बाद डीएम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर पत्रकारों को बताया कि मेरे नाम का फेक आई डी बना कर अधिकारियों और अन्य लोगों से रूपयो की मांग की जा रही है।उन्होंने लोगों से इस तरह के मैसेज का कोई रिप्लाई न देने और ठगी से बचने की अपील की है। साथ ही इस संबंध में साईबर ठगों के विरुद्ध नगर थाना में एक प्राथमिकी भी दर्ज कराई है। बता दें कि मनोबल सातवे आसमान पर आम तो आम और खास लोगों को भी निशाना बना रहे हैं । जबकि साइवर ठग का मनोबल इतना बढ़ गया है कि डीएम के नाम पर साइवर ठगी करने से भी नहीं रुक रहे ।

हालांकि डीएम की तत्परता ने साइवर ठगों के मंसूबे पर पानी जरूर फेंक दिया ।पूरा मामला शेखपुरा से जुड़ा है जहां साइबर ठगों ने ठगी का नया फार्मूला बनाया है। और इसी फार्मूले के आधार पर साइबर ठग जिला स्तरीय अधिकारी को अपना निशाना बना रहे हैं ।और राशि की डिमांड कर है। इस साइबर ठग गिरोह का पता उस समय लगा जब जिला स्तरीय पदाधिकारी डीएम सावन कुमार के नाम से बना व्हाट्सएप से पैसे की डिमांड किया जाने लगा। पहले तो जिला स्तरीय अधिकारी डीएम का डीपी लगा व्हाट्सएप मैसेज के माध्यम से अमेज़न के 10,000 से ज्यादा के बाउचर की मांग नही दिया। जिसके बाद अधिकारियों ने इसकी शिकायत डीएम से किया।

डीएम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए नंबर की तहकीकात की इसमें गुजरात का नंबर से अधिकारियों को व्हाट्सएप मैसेज कर अमेजॉन वाउचर की मांग की जा रही है। डीएम के नाम पर किया जा रहा भ्रष्टाचार और साइबर ठगी पर डीएम ने कहा कि साइबर ठग डीएम के चेंबर के साथ-साथ मेरा फ़ोटो लगा व्हाट्सएप में डीपी लगा कर अधिकारियों से अमेज़न वाउचर की मांग की जा रही है ।

इस संबंध में उन्होंने कहा कि साइबर ठग उत्पाद अधीक्षक, एसडीओ सहित अन्य वरीय अधिकारी को व्हाट्सएप के माध्यम से अमेजन की राशि भेजने का दबाव बनाया जा रहा था ।जिस की सूचना मिलते ही तत्काल साइबर ठग के मोबाइल नंबर

9664781209 जो डीएम का नंबर बता कर अधिकारियों से नाजायज वसूली का दबाव बना रहा था। जिस पर तत्काल नगर थानाध्यक्ष द्वारा प्राथमिकी दर्ज कराए जाने का निर्देश दिया है ।डीएम ने कहा कि इस तरह के हरकत बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और जल्द से जल्द उस नंबर धारक के विरुद्ध कार्रवाई पुलिस द्वारा की जाएगी।

खबरें और भी हैं...