योजना:गलत तरीके से खाद्यान्न योजना का लाभ लेने वाले लाभुकों पर रखी जा रही है नजर

शेखपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खाद्यान्न योजना के तहत लाभुकों के सत्यापन के लिए नौ बिंदु बनाए गए हैं

खाद्यान्न योजना के तहत लाभुकों के सत्यापन के लिए 9 बिंदु बनाए गए हैं। लाभार्थी अगर उस दायरे में आते हैं तो जांच कर उनके राशन कार्ड रद्द किए जाएंगे। माना जा रहा है कि अधिकांश लाभुक गलत तरीके से खाद्यान्न योजना का लाभ ले रहे हैं, जो इसके लिए अपात्र है। योग्य लाभुकों के सत्यापन के लिए अभियान चलाई जाएगी। इसके लिए सरकार की ओर से 9 बिंदु की योग्यता आधारित मानक तय किए गए हैं। यदि जांच के क्रम में मानक के अनुरूप राशन कार्ड धारी नहीं मिले तो उनकी राशन कार्ड रद्द की जाएगी। यहां उल्लेखनीय है कि राशन कार्ड धारियों में कई ऐसे परिवार भी शामिल हो गए हैं जो सामाजिक और आर्थिक दृष्टिकोण से सक्षम और समृद्ध हैं। ऐसे परिवारों पर शासन का डंडा चलेगा। सरकार की ओर से इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी गई है।

तीन पहिया चलित कृषि यंत्र हो तो भी राशन कार्ड के लिए योग्य नहीं
जारी की गई अधिसूचना में यह स्पष्ट किया गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में वैसे किसान भी खाद्यान्न योजना के लाभुक नहीं हो सकते हैं। जिनके घरों में तीन पहिया चलित कृषि यंत्र या उपकरण है। उन्हें अयोग्य की श्रेणी में रखते हुए ऐसे परिवारों के राशन कार्ड रद्द किए जाएंगे।

इन मानकों पर होगी जांच
परिवार के पास तीन या चार पहिया वाहन, तीन पहिया चालित कृषि उपकरण, सरकारी सेवक वाला गृहस्थी परिवार, गैर कृषि उद्योग में जुटा कृषि परिवार, 10000 से अधिक प्रतिमाह इनकम वाला परिवार, आयकर दाता परिवार, व्यवसायिक करदाता परिवार, 3 कमरों से अधिक पक्के मकान वाला परिवार, सिंचित क्षेत्रों में ढाई एकड़ से अधिक कृषि भूमि जोत वाला परिवार, राशन कार्ड के हकदार की श्रेणी से बाहर रखा गया है। जिले में ऐसे लाभुको की मिशन मोड़ में पहचान की जा रही है जो अपात्र लाभुक है। उनकी राशन कार्ड भी रद्द की जा रही है।

खबरें और भी हैं...