अलर्ट:18% लाभुकों का जीवन प्रमाणपत्र नहीं बना, 31 के बाद बंद होगी नियमित पेंशन

शेखपुरा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जीवन प्रमाणीकरण का निपटारा करते सहायक निदेशक अभिजीत सोनल। - Dainik Bhaskar
जीवन प्रमाणीकरण का निपटारा करते सहायक निदेशक अभिजीत सोनल।
  • पेंशन का लाभ लेने वाले जिले के 65136 पेंशनधारियों के जीवन प्रमाणीकरण का कार्य चल रहा

सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा पेंशन का लाभ लेने वाले जिले के 65136 पेंशनधारियों के जीवन प्रमाणीकरण का कार्य करवाया जा रहा है। सरकार और जिला प्रशासन की तमाम कवायद के बाद भी जिले में शत-प्रतिशत लाभुकों के जीवन प्रमाणीकरण का कार्य पूरा नहीं हो सका है। वैसे लाभुक जिनके द्वारा जीवन प्रमाणीकरण नहीं कराया गया है। ऐसे लोगों को आने वाले दिनों में पेंशन के लाभ से वंचित किया जा सकता है। हालांकि विभाग द्वारा अभी भी शत-प्रतिशत लोगों के जीवन प्रमाणीकरण के लिए लगातार कैंप और सुविधाएं देने का दावा किया जाता रहा है।

सामाजिक सुरक्षा निदेशालय ने जिला के सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से संबंधित शत-प्रतिशत पेंशनधारियों को अपना जीवन प्रमाणीकरण करने को कहा है। सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा अभिजीत सोनल ने बताया कि जिले के शत-प्रतिशत सामाजिक सुरक्षा पेंशनधारियों के जीवन प्रमाणीकरण के लिए जिलाधिकारी के मार्गदर्शन में जिला एवं प्रखंड कार्यालयों द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। बावजूद अभी भी लगभग 18 प्रतिशत पेंशनधारियों का जीवन प्रमाणीकरण कार्य लंबित है। विभाग ने जल्द से जल्द सभी लाभुकों के शत-प्रतिशत जीवन प्रमाणीकरण का निर्देश दिया है, क्योंकि बिना जीवन प्रमाणीकरण के लिए किसी भी लाभुक को पेंशन नहीं मिल सकता है।

जिनका डिवाइस से नहीं हुआ उनका भौतिक सत्यापन
जीवन प्रमाणीकरण नहीं कराने पर पेंशन का नियमित भुगतान तब तक बंद जो जायेगा, जबकि लाभुक द्वारा जीवन प्रमाणीकरण (बायोमेट्रिक अथवा भौतिक दोनों में किसी भी प्रकार से) नहीं करा लिया जाता है। सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा ने अभिजीत सोनल ने बताया कि जिले के सभी प्रखण्ड कार्यालयों की सामाजिक सुरक्षा पेंशनधारियों के जीवन प्रमाणीकरण के लिए पूर्व में हो एक बायोमेट्रिक डिवाइस और एक आइरिस स्कैनर उपलब्ध कराया जा चुका है। वैसे पेंशनधारी जिनका बायोमैट्रिक आईरिस स्कैनर डिवाइस से प्रमाणीकरण नहीं हो पाता है। ऐसे लोग के लिए अंतिम रूप उपाय के रूप में प्रखंड कार्यालय द्वारा भौतिक सत्यापन/प्रमाणीकरण किया जाएगा।

53636 का हो चुका है जीवन प्रमाणीकरण, 11500 का बाकी
सहायक निदेशक ने बताया कि 11500 लाभुकों का जीवन प्रमाणीकरण का कार्य बाकी है। इसमें शेखपुरा में 20167 में से 3137, शेखोपुरसराय में 8144 में से 962, बरबीघा में 14184 में से 1639, चेवाड़ा में 7729 में से 777, अरियरी में 10853 में से 1435 व घाटकुसुम्भा में 4281 में से 316 लाभार्थियों के जीवन प्रमाणीकरण का कार्य होना बाकी है

65136 को मिल रहा लाभ
सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा कोषांग ने बताया कि जिले में मुख्यमंत्री वृद्धजन पेंशन योजना के तहत 22500, इन्दिरा गांधी की राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के तहत 28454, इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना के तहत 3354, लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के तहत 50433, इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय नि:शक्तता पेंशन योजना के तहत 1085 व बिहार नि:शक्तता सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के तहत 6139 लाभुकों को योजना का लाभ दिया जा रहा है।

5 रुपए में करवा सकते हैं जीवन प्रमाणीकरण

प्रखंड मुख्यालय के साथ-साथ 5 रुपए में सीएससी में करवा सकते हैं। जीवन प्रमाणीकरण सहायक निदेशक ने बताया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशनधारियों स्वेच्छा से कॉमन सर्विस सेंटर अथवा प्रखण्ड कार्यालयों से प्रमाणीकरण करवा सकते हैं। कॉमन सर्विस सेंटर पर जीवन प्रमाणीकरण के लिए 5 रुपए का शुल्क देना होगा।

खबरें और भी हैं...