जाली नंबर के आधार पर जब्त वाहन की नीलामी कराई:न्यायालय से जारी वारंट वापस करने की प्रार्थना, पुलिस मनमानी के खिलाफ कार्रवाई की गुहार

शेखपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शेखपुरा में शराब माफिया के झांसे में आकर पुलिस का चौंकाने वाला अनुसंधान सामने आया है। शराब माफिया शराब तस्करी के लिये एक बड़े कंटेनर का प्रयोग किया। उस पर एक छोटे टिपर ट्रक का नम्बर लिखा रखा था। बरबीघा पुलिस ने 15 अप्रैल को 2019 उस कंटेनर से 200 कार्टून अंग्रेजी शराब बरामद की थी। उसके साथ अंतर्राजीय शराब तस्कर भी पकडे गए थे। जाँच और अनुसन्धान के क्रम में पुलिस ने उसी जाली नम्बर के आधार पर जब्त वाहन का क़ानूनी कार्रवाई करते हुए नीलामी करवा दी।

साथ ही जाली नम्बर के वाहन मालिक के खिलाफ उस शराब बरामदगी मामले में गिरफ्तारी वारंट भी प्राप्त कर लिया। लेकिन पुलिस उस कंटेनर के वास्तिव मालिक का पता लगाने की आवश्यकता नहीं समझी। इस मामले में शराब के साथ जब्त कंटेनर पर फर्जी अंकित नम्बर के मालिक झारखंड के रामगढ़ जिला के मांडू थाना के बसंतपुर निवासी बिमल महतो ने न्याय की गुहार लगाई है।

उसने पुलिस के इस कथित मनमानी के खिलाफ कार्रवाई करने और न्यायालय से जारी वारंट वापस करने की प्रार्थना की है। उसके शराबबंदी के विशेष न्यायाधीश धर्मेन्द्र झा के न्यायालय में आवेदन दिया है। लिखित आवेदन में उसने आरोप लगाया कि उसके फर्जी नंबर वाले उस कंटेनर की नीलामी के बाद उसका विधिवत निबंधन हो चूका है।

जबकि उसकी छोटी टिपर ट्रक घटना के पूर्व से ही उसके कब्जे में है। उससे लगातार रामगढ़ के कोयला खदान से कोयला की ढुलाई की जा रही है। उसने बताया कि जब वह अपने असली वाहन का त्रैमासिक टैक्स भरने परिवहन कार्यलय पंहुचा तो उसके वाहन का टैक्स पहले से भरा हुआ था। न्ययालय में इस मामले की सुनवाई होनी अभी बांकी है।