सीतामढ़ी जेल से नामांकन करने पहुंचे पूर्व सभापति सुवंश राय:रास्ते में दिखी समर्थकों की भीड़, पुलिस को चलानी पड़ी लाठी

सीतामढ़ी2 महीने पहले

सीतामढ़ी जिले में हत्या मामले के आरोप में जेल में बंद नगर परिषद के पूर्व सभापति सुवंश राय ने सीतामढ़ी नगर निगम के प्रत्याशी के लिए बुधवार अपना नामंकन किया। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज सीतामढ़ी नगर निगम के प्रत्याशी सुवंश राय ने अपने हज़ारों समर्थकों के साथ अपना नामांकन पर्चा दाखिल करने पहुंच। जहां भीड़ को कंट्रोल करने लिए पुलिस को लाठी भी चलानी पड़ी। आपको बतादें कि जिले के दो अलग अलग हत्या मामले के आरोप में दो करीब दो साल से सुवंश राय जेल में बंद है। आज जेल से सीधा समाहरणालय लाया गया, जहां उन्होंने अपना नामांकन पर्चा दाखिल किया। बता दें कि इनकी पत्नी विभा देवी निवर्तमान सभापति हैं।

जनता की मांग पर लड़ रहे चुनाव

इस दौरान दैनिक भास्कर से बातचीत में उन्होंने कहा कि हम न्यायालय के अधीन है, जनता के मांग पर चुनाव लड़ रहे हैं। मुझे यहां की जनता एवं न्यायालय पर पूर्ण विश्वास है कि मुझे न्याय मिलेगी। चुनाव जीत कर आने के बाद विकास की योजनाओं को धरातल पर उतारने का काम करेंगे। लोगों के हर दुःख सुख में उनके साथ खड़े रहेंगे और कदम से कदम मिलकर साथ चलेंगे।

हत्या के साजिश का है आरोप

दरअसल, बेलसंड में हुए एक हत्याकांड के सिलसिले में वर्ष 2020 के दिसंबर महीने में इनकी गिरफ्तारी हुई थीं। बेलसंड थाना पुलिस ने सुवंश राय को सीतामढ़ी में उनके आवास से गिरफ्तार किया था। सीतामढी के नया टोला वार्ड नं 1 निवासी रामदेव राय के पुत्र हैं। उनकी पत्नी वीभा देवी फिलहाल नगर परिषद की निवर्तमान सभापति हैं। अपने पांच नंबर वार्ड से निवर्तमान पार्षद भी हैं। तथा पत्नी वीभा देवी वार्ड नंबर-दो से निवर्तमान पार्षद हैं। बेलसंड थाना क्षेत्र के पचनौर गांव में 7 नवंबर, 2019 को विशाल पटेल की हत्या के मामले में सुवंश राय आरोपित हैं। विशाल हत्याकांड में सुवंश राय अलावे कई लोगो पर प्राथमिकी हुई थी। उनके विरूद्ध हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया गया था।

खबरें और भी हैं...