सभापति ने दिया माता सीता को लेकर बड़ा बयान:सीतामढ़ी पहुंचे देवेश चंद्र ठाकुर, कहा- रामायण काल में माता सीता के साथ हुआ था घोर अन्याय

सीतामढ़ी10 दिन पहले

रामायण काल में भी माता सीता के साथ अन्याय हुआ था और आज भी माता सीता के साथ अन्याय हो रहा है। उक्त बातें बिहार विधान परिषद के सभापति देवेश चंद्र ठाकुर ने कही है। सीतामढ़ी जिले के नानपुर प्रखंड के जानीपुर गांव में एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। जहां उन्होंने माता सीता को लेकर बड़ा बयान दिया है। सभापति देवेश चंद्र ठाकुर ने कहा कि रामायण काल में भी माता सीता के साथ घोर अन्याय हुआ था। वही आज भी माता सीता के साथ अन्याय हो रहा है। जहां अयोध्या को पर्यटक स्थल में अंतरराष्ट्रीय पहचान मिल चुका है।

रामायण काल के समय से ही माता सीता के जन्म धरती का है वर्णन

वही, माता सीता की जन्म स्थली पुनौरा धाम को अब तक वह पहचान नहीं मिला है। उन्होंने ने कहा कि विदेश क्या देश के लोग भी अब तक माता सीता की जन्म स्थली को लेकर पूरी तरह आश्वस्त नहीं है। जबकि रामायण जैसे पुस्तकों में भी माता सीता की जन्म स्थली का विवरण दर्ज है। उसके बाद भी अब तक माता सीता को वह पहचान नहीं मिल पाई जो अयोध्या को मिली है। सभापति ने कहा कि माता सीता की जन्मस्थली पुनौरा धाम के विकास को लेकर उन्होंने केंद्र सरकार और राज्य सरकार से बात कि है जल्द ही पुनौरा धाम का विकास होगा।

जानकी जन्म धरती को लेकर दिग्भ्रमित है लोग: सभापति

उन्होंने देश ही नहीं विदेश से भी लाखों की संख्या में सैलानी पुनौरा धाम में आकर माता सीता का दर्शन करेंगे। सभापति ने कहा कि अब जल्द से जल्द वह माता सीता की जन्म भूमि को अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल पर अयोध्या धाम की तरह लाने को लेकर केंद्र सरकार से बात करेंगे। ताकि देश ही नहीं विदेश के लोग भी माता सीता की जन्म स्थली को लेकर दिग्भ्रमित ना हो। कहा कि पुनौरा धाम का विकास होने से जिले के लाखों लोगों को जहां रोजगार मुहैया होगा। वहीं अंतरराष्ट्रीय पटल पर भी अयोध्या की तरह सीतामढ़ी का नाम होगा।

खबरें और भी हैं...