मुआयना:डीएम ने अधिकारियों से सदर अस्पताल की व्यवस्था का लिया फीड बैक, फटकारा भी

सीतामढ़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अधिकारियों को दिशा निर्देश देते डीएम - Dainik Bhaskar
अधिकारियों को दिशा निर्देश देते डीएम
  • एनएसयूआई में भर्ती बच्चे के पिता ने ठीक से इलाज न करने की शिकायत भी की

जिलाधिकारी मणेश कुमार मीणा ने सोमवार की सुबह सदर अस्पताल का औचक निरीक्षण किया है। इस दौरान व्यवस्था से नाराज डीएम ने अधिकारियों को फटकार लगाई। डीएम सबसे पहले एमसीएच बिल्डिंग स्थित उपाधीक्षक कक्ष में पहुंचे। जहां स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से व्यवस्थाव को लेकर जानकारी ली। जिसके बाद डीएम ने एमसीएच बिल्डिंग, इमरजेंसी वार्ड, कैदी वार्ड, जेनरल वार्ड में मरीज और उनके परिजनों से की व्यवस्था का फीड बैक लिया। इसी दौरान एनएसयूआई में भर्ती बच्चे के पिता द्वारा ठीक से इलाज न किए जाने की शिकायत पर खुद से जा चिकित्सक से बच्चे का हाल जाना। डीएम ने अस्पताल परिसर में वाहन पार्किंग, मरीज के बैठने की व्यवस्था, शौचालय की व्यवस्था, साइन बोर्ड की व्यवस्था, लाइटिंग की व्यवस्था को लेकर कई दिशा निर्देश भी दिए। इस दौरान सदर एसडीओ राकेश कुमार, नगर आयुक्त प्रमोद कुमार पांडे, नगर आयुक्त प्रमोद कुमार पाण्डेय, डीएस एके झा, अस्पताल प्रबंधक विजय चंद्र झा समेत अन्य निरीक्षण में मौजूद रहे।

बिना निबंधित क्लिनिकों के लिए छापेमारी टीम का किया गठन
औचक निरीक्षण के दौरान कई मरीजों के परिजनों ने अस्पताल परिसर के इर्द-गिर्द चल रहे बिना निबंधित क्लिनिक और उनके दलालों द्वारा परेशान किए ने की शिकायत डीएम से की। जिसपर डीएम द्वारा सदर एसडीओ को तत्काल एक छापेमारी सह जांच टीम गठन करने का निर्देश देते हुए आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा की अस्पताल प्रशासन ऐसे बिचौलियों को चिन्हित कर उसके खिलाफ सख्त कारवाई करे।

अस्पताल में फैली गंदगी पर लगाई फटकार
अपने औचक निरीक्षण के दौरान डीएम ने पूरे अस्पताल का बारी बारी से निरीक्षण किया। वही इस दौरान सदर अस्पताल परिसर में अलग अलग स्थानों पर लगी गंदगी को देख डीएम ने अस्पताल प्रबंधन को जमकर फटकार लगाई। वहीं मौके पर उपस्थित नगर आयुक्त को अस्पताल के चारों तरफ फैली गंदगी को अविलंब हटाने का निर्देश दिया।

व्हाट्सएप के माध्यम से चिकित्सकों की उपस्थिति का दिया निर्देश
वही ओपीडी और प्रसव वार्ड के निरीक्षण के दौरान महिलाओं ने डीएम से चिकित्सकों के लेट से आने और अनुपस्थित होने की शिकायत की। जिसपर डीएम ने सीएस को चिकित्सक की उपस्थित रोस्टर के अनुरूप वाट्सएप के माध्यम से लेने का निर्देश दिया। वही अनुपस्थित चिकित्सकों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई करने का निर्देश दिया। डीएम ने अस्पताल प्रबंधक को कार्यरत सभी चिकित्सकों के मोबाइल नंबर को अस्पताल परिसर में लगाने का निर्देश दिया। वही पूरे अस्पताल परिसर में साइन बोर्ड लगा कर मरीजों की कठिनाइयों को दुरुस्त करने को कहा।

कई खामियां मिली : डीएम
^सदर अस्पताल जिला का सबसे बड़ा अस्पताल है। जहां शहर समेत दूर के विभिन्न प्रखंडों और कस्बों के लोग इलाज कराने पहुंचे है। जिन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवा मुहैया हो इसको लेकर औचक निरीक्षण किया गया है। कई कामिया पायी गयी, जिसको दुरुस्त करने को लेकर अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए है।
- मनेश कुमार मीणा, जिलाधिकारी, सीतामढ़ी।

खबरें और भी हैं...