हाई स्कूलों के दोषी प्रधानाध्यापकों पर होगी कार्रवाई:जिले के 1 लाख 20 हजार बच्चों की नहीं की गई एंट्री

सीतामढ़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले के विभिन्न सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की इंट्री मेधा सॉफ्ट पोर्टल नहीं करने वाले प्रधानाध्यापकों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। डीपीओ योजना व लेखा डॉ. अमरेंद्र कुमार पाठक ने इसके लिए सभी बीईओ को कड़ी चेतावनी दी है।

कहा कि मेधा सॉफ्ट पोर्टल पर जिन छात्र छात्राओं की इंट्री नहीं होगी, उन्हें सरकार प्रायोजित योजनाओं से वंचित कर दिया है। इसकी सभी जिम्मेवारी संबंधित स्कूल के प्रधानाध्यापकों व बीईओ की होगी। उन्होंने कहा कि अभियान चलाकर चार दिनों के भीतर शत प्रतिशत छात्र छात्राओं की इंट्री मेधा सॉफ्ट पोर्टल पर कराना सुनिश्चित करेंगे।

कहा कि निर्धारित समय सीमा के भीतर जिस स्कूल से शत प्रतिशत इंट्री रिपोर्ट नहीं दी जाती है उस स्कूल के संबंधित प्रधानाध्यापकों को चिन्हित कर सूची उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

डीपीओ ने कहा है कि समीक्षा के दौरान पाया गया है कि जिले के सरकारी स्कूलों में अध्ययनरत करीब 8 लाख 32 हजार 230 विद्यार्थियों के विरुद्ध अब तक 1 लाख 20 हजार 261 विद्यार्थियों का इंट्री मेधा सॉफ्ट पोर्टल पर नहीं किया गया है।

स्कूलों में अध्ययनरत शत प्रतिशत बच्चों का इंट्री मेधा सॉफ्ट पोर्टल पर करना है। इसके लिए सभी बीईओ व प्रधानाध्यापकों को निर्देश जारी किया गया है। कोताही बरते जाने पर प्रधानाध्यापकों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
-डॉ. अमरेंद्र पाठक, डीपीओ सीतामढ़ी।

खबरें और भी हैं...