दादागिरी:पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली के खिलाफ पूर्व विधायक ने चलाया अभियान, बुकलेट छीनी

सीतामढ़ी8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पार्किंग शुल्क वसूली करते युवक से रसीद छीन हिदायत देते पूर्व विधायक - Dainik Bhaskar
पार्किंग शुल्क वसूली करते युवक से रसीद छीन हिदायत देते पूर्व विधायक
  • भारत-नेपाल सीमा स्थित नप बैरगनिया में वाहनों से पार्किंग के नाम पर की जा रही अवैध वसूली का मामला

भारत नेपाल सीमा स्थित नगर परिषद बैरगनिया में वाहनों से पार्किंग के नाम पर की जा रही अवैध वसूली के खिलाफ रीगा के पूर्व विधायक अमित कुमार टुन्ना ने अभियान शुरू किया है। इसके तहत शुक्रवार की शाम नगर परिषद क्षेत्र में कर रहे अवैध वसूली में शामिल लोगों को कड़ी फटकार लगाई। इन लोगों से अवैध रूप से हाथ में रखे चालान बुकलेट भी छीना। पूर्व विधायक ने बताया कि क्षेत्र भ्रमण को लेकर विधानसभा क्षेत्र के बैरगनिया प्रखंड के दौड़े पर थे। जहां स्थानीय लोगो द्वारा आने जाने वाले वाहनों से अवैध रूप से पार्किंग के नाम पर पैसा वसूली की शिकायत की । इसकी सत्यता की जांच के लिए अपने वाहन से पार्टी का झंडा व स्टीकर हटा दिस और साधारण आदम की तरह अवैध वसूली करने वाले स्थल पर पहंुंचे। नगर परिषद के पार्किंग क्षेत्र में वाहन खड़ी होते ही कुछ लोग चालान लेकर वसूली को पहुंचे। पार्किंग के नाम पर चलना काटा जाने लगा। जिसपर पूर्व विधायक आग बबूला हो गये। गाड़ी से उतर पूछा किस एवज में पार्किग शुल्क लेने की बात कही जा रही है। किस तरह का चलान काट रहे है आपलोग। इस पर वसूली करने वाले लोग अड़ गए और बिना शुल्क जमा कराए गाड़ी न बढ़ने देने की बात कही । पूर्व विधायक के साथ स्थिति गंभीर होते देख उनका सुरक्षा गार्ड पहुंचा। इसके बाद वसूली करने वाले लोग नरम हुए। पूर्व विधायक ने पार्किंग शुल्क के नाम पर अवैध वसूली कर रहे युवक से चलान बुक छीन लिया। साथ ही दुबारा किसी अन्य गाड़ी से इस तरह जबरन पार्किंग के नाम पर अवैध रूप से वसूली न करने की हिदायत भी दी। पूर्व विधायक ने कहा कि जब वो विधायक थे उस वक्त भी इस अवैध उगाही को लेकर विधानसभा में सवाल उठाया था। उन्होंने बताया कि इस गोरखधंधे से की जा रही उगाही से सरकार के अधिकारी से लेकर जनप्रतिनिधियों को मोटी रकम पहुंचती है। जिस कारण आम लोगो की समस्या न उन्हें दिखाई दे रही है और न ही सुनाई। उन्होंने कहा कि अगर पार्किंग के नाम पर आने जाने वाले वाहनों से की जा रही अवैध वसूली पर अगर सरकार या प्रशासन रोक नही लगाता है, तो इसके विरोध में आम लोगो के साथ बैरगनिया नगर परिषद के विरुद्ध चरणबद्ध आंदोलन चलाया जाएगा।

अवैध वसूली मामले में पूर्व में भी जेल जा चुके है दो कर्मी
भारत-नेपाल सीमा पर नगर परिषद बैरगनिया के कर्मियों के द्वारा वाहनों से अवैध टैक्स वसूला किया जा रहा है। हालांकि अवैध टैक्स वसूली का यह धंधा कोई नया नहीं है। पूर्व में इस तरह के मामले में पुलिस ने दो कर्मियों को जेल भी भेजा है। बावजूद इसके नगर परिषद कर्मियों द्वारा अवैध वसूली जारी है। जबकि नगर परिषद प्रखंड के तीन जगहों से पार्किंग शुल्क के नाम पर टैक्स वसूली किए जाने की बात कह रही है लेकिन, स्थिति यह है कि इस रास्ते होकर गुजरने पर हर वाहनों से शुल्क लिया जा रहा है। वही विरोध करने पर टैक्स लेने वालों के द्वारा मारपीट भी की जाती है। हालात यह है कि मूल रूप से नगर परिषद के छह जगहों से टैक्स के नाम पर वसूली की जा रही है।
विरोध करने पर की जाती है मारपीट | सीतामढ़ी से आए टेंपू चालक रजनीश कुमार ने बताया कि पार्किंग के नाम पर अवैध रूप से पैसा लिया जाता है। विरोध करने पर टैक्स वसूली करने वाले लोगों द्वारा मारपीट की जाती है। पार्किंग के नाम पर ऑटो से 20 रुपया प्रति खेप, पिकअप और चार चक्का वाहनों से 75 रुपये, छह चक्का वाहन से 85 रुपये, छह चक्का से अधिक वाले ट्रक से 250 रुपया व यात्री बस से 150 रुपया प्रति खेप शुल्क के रूप में लिया जा रहा है।

निवर्तमान अध्यक्ष भी कर चुकी है कई बार शिकायत, बावजूद जांच व कार्रवाई लंबित
नगर पंचायत की निवर्तमान अध्यक्ष मीना देवी ने बताया कि वो कई बार पार्किंग के नाम पर नगर परिषद बैरगनिया द्वारा किये जा रहे अवैध पार्किंग टैक्स की शिकायत अधिकारियों से लेकर मंत्री तक कर चुकी है। लेकिन कोई भी कार्रवाई नही की गई। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कार्यपालक पदाधिकारी खुद पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली करवा रहे हैं। जिसकी शिकायत उन्होंने नगर विकास विभाग पटना में भी की है। उनकी शिकायत पर मामले की जांच करने को लेकर जिला प्रशासन को पत्र भी भेजा गया है। इन सबके बावजूद इस मामले की अब तक न ताे जांच हुई है और न ही किसी प्रकार की कोई कार्रवाई की गई है। पार्किंग नहीं होने के बावजूद भी पार्किंग के नाम पर अवैध वसूली की जा रही है। कहा कि जब पार्किंग में कमर्शियल वाहन खड़ा नहीं किया जाता है तो किस आधार पर वैसे वाहनों से अवैध वसूली की जा रही है।

खबरें और भी हैं...