• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Sitamarhi
  • In The Strong Storm rain, One Injured, The Roof Of The Houses Of The District Blew Up, Damage To The Rabi Crop And Mango litchi

मौसम बदला:तेज आंधी-बारिश में जिले के मकानों के छप्पर उड़े एक जख्मी, रबी फसल व आम-लीची को नुकसान

सीतामढ़ी13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
निर्माणाधीन मकान का उड़ा एसबेस्टस। - Dainik Bhaskar
निर्माणाधीन मकान का उड़ा एसबेस्टस।
  • जगह-जगह जलजमाव से आवागमन में परेशानी, बिजली की आपूर्ति रही बाधित

जिले में शुक्रवार की देर रात से शनिवार की सुबह तक आंधी के साथ गरज के साथ बारिश हुई। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार जहां औसत बारिश 1.7 एमएम होनी थी वहीं बीते 24 घंटे में औसत से 365 प्रतिशत अधिक 7.9 एमएम बारिश हुई। इस दौरान डेढ़ दर्जन से अधिक मकानों के छप्पर उड़ गए वहीं कई झोपड़ी ध्वस्त हो गई। ध्वस्त मकान में दबकर सुप्पी प्रखंड में एक व्यक्ति जख्मी हो गया है, जिसका इलाज सीतामढ़ी के निजी क्लीनिक में किया जा रहा है। इधर खेतों में लगे मूंग व मक्के की तैयार फसल काे भारी हानि पहुंची है वहीं आम व लीची के फसल को भी क्षति पहुंची है। वहीं इस बारिश से मरूआ के फसल को लाभ पहुंचा है। मूंग व मक्के के साथ ही आम-लीची का लगभग 15 लाख से अधिक की हानि का अनुमान है वहीं मकान की हानि का अनुमान 20 लाख से अधिक का लगाया गया है। नगर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में सड़कों पर जलजमाव होने से आवागमन में परेशानी बढ़ गई है। आंधी पानी के दौरान बिजली आपूर्ति करीब छह घंटे तक नगर में बाधित रही वहीं ग्रामीण क्षेत्र में पोल गिरने व पेड़ के ट्रांसमीशन तार पर गिरने से 12 घंटे तक आपूर्ति बाधित रही। कुछ ग्रामीण क्षेत्र में 18 घंटे बीतने के बाद भी आपूर्ति बहाल नहीं की जा सकी है।

जिले में 7.9 एमएम बारिश, 35 लाख के नुकसान का अनुमान, मूंग व मक्के की तैयार फसल काे हुई हानी

खेतों में लगी मूंग की तैयार फसल को भारी क्षति

प्रखंड क्षेत्र में बीती रात आई आंधी पानी से भारी नुकसान पहुंचा है। तेज के कारण कई लोगों के झोपड़ी के घर ध्वस्त हो गए वहीं कई घरों के करकट व झोपड़ी के छप्पर उड़कर दूर जा गिरे। खेतों में लगी मूंग की तैयार फसल को भारी क्षति हुई है। मूंग खेतों में ही गिरकर बर्बाद हो रहे हैं वहीं आम व लीची को भी आंशिक हानि पहुंची है। आंधी पानी शुरू होने के साथ ही बिजली आपूर्ति बाधित हो गई। जो दिन के 10 बजे पुन: बहाल हो सकी है।

रीगा में हुई सबसे अधिक बारिश

बोखड़ा व नानपुर में बारिश नहीं हुई है। वहीं रीगा में सबसे अधिक बारिश हुई। आंधी व पानी से सबसे अधिक सुप्पी, रीगा, बैरगनिया, सोनबरसा व डुमरा प्रखंड प्रभावित रहा। सुप्पी व सोनबरसा में कई झोपड़ी ध्वस्त हो गए, वहीं दर्जनों की संख्या में घरों का छप्पर उड़कर दूर जा गिरा।

आंधी में छप्पर गिरने से एक व्यक्ति जख्मी

प्रखंड क्षेत्र में भी शनिवार को अहले सुबह आयी आंधी पानी से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। आंधी से डेढ़ दर्जन से अधिक झोपड़ी ध्वस्त हो गए वहीं कई मकानों के एलवेस्टर के छप्पर हवा में उड़ कर दूर जा गरे। तेज आंधी के कारण घर में सोए रामनगरा निवासी शंकर साह का पुत्र सत्येंद्र साह गंभीर रूप से घायल हो गए है।

खबरें और भी हैं...