मंत्री ने बताया:अयोध्या की तरह माता सीता की जन्म भूमि का किया जाएगा विकास

डुमरा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुनौरा धाम में चेतना समिति के अध्यक्ष विवेकानंद झा, सचिव उमेश मिश्रा के नेतृत्व में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसका उद्घाटन बिहार सरकार के कला एवं संस्कृति मंत्री आलोक रंजन झा एवं विधान पार्षद देवेश चंद्र ठाकुर ने संयुक्त रुप से किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री आलोक रंजन झा ने कहा कि श्री राम जन्म भूमि की तरह माता सीता की जन्म भूमि का भी विकास किया जाएगा। इसके लिए सरकार प्रयासरत है। कहा कि बिहार में सुशासन की सरकार है। नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य में हर स्तर पर विकास हो रहा है। वहीं उन्होंने केन्द्र सरकार की योजनाओें की भी प्रशंसा की।

कहा कि रामायण सर्किट के तहत पर्यटन क्षेत्रों का विकास किया जा रहा है। वही विधान पार्षद देवेश चंद्र ठाकुर ने कहा कि मिथिला का विकास मैथिली भाषा के विकास के साथ ही संभव है। इसलिए लोगों से उन्होंने मिथिला के विकास में योगदान देने की बात कही। कहा कि सभी के सहयोग से मिथिला और मैथिली भाषा का विकास होगा।

राज्य सरकार इसके लिए अपने स्तर से प्रयास कर रही है। वही कार्यक्रम में सुफल झा, उमेश चंद्र झा, बलराम शास्त्री, डॉ. पीके. मिश्रा, डॉ. बीएन. झा, डॉ. चंदन झा आदि ने अपने विचार रखें। वहीं दरभंगा से आए कवि विभूति आनंद, अशोक मेहता, ताराचंद्र वियोगी, उदय चंद्र झा, जय नारायण गिरी, रानी झा, दिलीप कुमार झा आदि कवियों ने अपनी कविता से उपस्थित लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया।

खबरें और भी हैं...