• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Sitamarhi
  • Prisoner Attempted Suicide In Sitamarhi, Throat Cut In Glass In Sadar Hospital, Is In Jail For 4 Months In The Murder Of Sister in law

सीतमढ़ी में बंदी ने किया आत्महत्या का प्रयास:सदर अस्पताल में शीशे से काटा गला, 4 महीने से भाभी की हत्या मामले में जेल में है बंद

सीतामढ़ी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीतामढ़ी के प्रसिद्ध चिकित्सक के जेल में बन्द पुत्र ने इलाज के दौरान सदर अस्पताल में मंगलवार की रात आत्महत्या का प्रयास किया। वह कैदी वार्ड से निकलकर अस्पताल के बाथरूम में गया। जहां टूटे हुए खिड़की के कांच से खुद का गला काटकर आत्महत्या का प्रयास किया। जख्मी शहर के प्रसिद्ध सर्जन अनिल कुमार का पुत्र अभिजीत कुमार है।

आत्महत्या के प्रयास के बाद सदर अस्पताल में अफरा-तफरी मच गई। उसे आनन-फानन में अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। जहां डॉक्टरों की तीन सदस्यीय टीम ने उसका इलाज किया। डॉक्टरों ने बताया की उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। उसे बेहतर इलाज के लिए बाहर भेजने की अनुशंसा की है। जहां मानसिक रोग के चिकित्सक उपलब्ध हो। इधर, सूचना मिलने पर बंदी के पिता डॉक्टर अनिल कुमार भी अस्पताल पहुंचकर अपने पुत्र का हाल जाना व उसे समझाकर शांत कराया।

4 महीने भभी की गोली मारकर की थी हत्य
जानकारी के अनुसार, नशे में धुत अभिजीत ने इसी वर्ष दस जनवरी को मामूली सी बात को लेकर अपनी भाभी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद अभिजीत व उसके माता-पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। बाद में उसके पिता जमानत मिलने के बाद जेल से बाहर है।

अस्पताल के कर्मियों की माने तो पांच-छह दिन पूर्व भी कैदी वार्ड के एक गार्ड का रायफल लेकर अपने गले में सटाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था। परंतु, रायफल लॉक होने के कारण गोली नहीं चल सकी। वहां मौजूद लोगों ने उससे रायफल छीन लिया। इसके बाद वह अस्पताल से भागने का भी प्रयास किया था। लेकिन, अस्पताल में मौजूद गार्ड ने पकड़ लिया।

अभिजीत नशे का पूर्णत: आदि है। नशे का सामान नहीं मिलने पर वह अक्सर इस तरह की करतूत करता है। वहीं स्थानीय लोगों की माने तो कैदी वार्ड में प्रतिनियुक्त गार्ड की भी लापरवाही सामने आ रही है।