सीतामढ़ी मासूम की मौत पर हंगामा:परिजनों में आक्रोश, कहा - समय से चार दिन पहले ही लगा दिया टीका

सीतामढ़ी2 महीने पहले
घटना के बाद लगी लोगों की भीड़।

सीतामढ़ी जिले में 40 दिन के मासूम की मौत हो गई। घटना के बाद परिजन आक्रोशित हो गए और हंगामा करने लगे। उनका आरोप था कि पेंटा का टीका लगने के 13 घंटे बाद ही मासूम की मौत हो गई। घटना नगर थाना क्षेत्र के जानकी स्थान वार्ड नंबर 7 की हैं। जहां आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 18 पर गुरुवार के दिन में करीब 12 बजे पेंटा की सुई दी गई। गुरुवार देर रात एक बजे मौत हो गई। मृत मासूम की पहचान अनिल प्रसाद के 40 दिन का पुत्र अमित के रूप में की गई है।

घटना के बाद नगर थाना पुलिस को इसकी सूचना देने के लिए फोन किया तो कॉल रिसीव नहीं किया गया है। जब सुबह हुई तो पुलिस के साथ साथ सदर अस्पताल के डी.एस. समेत अन्य अधिकारी घटनास्थल पहुंचे। जहां परिजनों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। लोगों ने कहा कि 4 दिन पूर्व जबरदस्ती टीका लगा दिया गया। इसके कारण बच्चे की मौत हुई है।

मासूम अमित।
मासूम अमित।

पोलियो का टीका के लिए कैंप लगा हुआ था

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को आंगनबाड़ी केंद्र पर पेंटा का टीका के लिए कैंप लगा हुआ था। जहां बच्चे की मां उसे लेकर पहुंची। ऐसे में लापरवाही बरतते हुए एएनएम के द्वारा टीका लगा दिया गया। जिसके बाद बच्चा दिन से लेकर रात तक खूब रोता रहा। एएनएम के द्वारा दवा देने के साथ बर्फ से सेंकने के लिए कहा गया था।

देर रात हुई बच्चे की मौत

देर रात बच्चे को मुंह से ब्लड आने लगी। जिसके बाद सभी अस्पताल ले जाना चाहे। तब तक देर हो चुकी थी और करीब 2 बजे रात को उसकी मौत हो गई। घटना के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। मौके पर सदर अस्पताल के डीएस डॉ एके सिंह के साथ अन्य अधिकारी घटनास्थल पहुंचकर लोगों को शांत करवाया।

क्या कहते है अधिकारी

मौके पर मौजूद डीएस डॉ एके सिंह ने कहा की मामला संज्ञान में आने के बाद यहां पहुंचे है। बच्चे की पोस्टमार्टम होने के बाद ही पता चलेगा को कैसे मौत हुई है। फिलहाल पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। वही एएनएम की गलती को भी उन्होंने स्वीकार करते हुए कहा कि 4 दिन कम रहने के कारण मौत नहीं हो सकती है।

खबरें और भी हैं...