आधा कट्‌ठा जमीन बेचकर सबको खरीद लूंगी...:पूर्व मंत्री ने JDU नेताओं को बताई औकात, DDC को चप्पल मारकर की थी सियासी एंट्री

सीतामढ़ी3 महीने पहले

JDU के अंदर का गतिरोध राजधानी पटना से लेकर जिलों तक में पहुंच गया है। पार्टी में अपना दबदबा बनाए रखने के लिए नेता अनाप-शनाप बयान दे रहे हैं। ऐसा ही एक वाकया सीतामढ़ी से सामने आया है। जिसमें पूर्व मंत्री ने अपनी धौंस दिखाते हुए अपनी ही पार्टी के नेताओं को खरीद लेने की धमकी दे रही हैं। उन्होंने कहा है, 'पटना में आधा कट्‌ठा जमीन बेचकर पूरे जिले के नेताओं को खरीद लूंगी।'

मामला 5 जून की पार्टी की समीक्षा बैठक का है, लेकिन वीडियो अब सामने आया है। बैठक में हाल में हुए MLC चुनाव और पार्टी की गतिविधियों पर बातें हो रही थी। तभी कुछ नेताओं ने चुनाव के दौरान बाजपट्टी विधानसभा क्षेत्र में विरोध करने की बातें कही। इस पर रंजू गीता आग-बबूला हो गईं और अपनी धौंस दिखाई।

जदयू समाज सुधार वाहिनी की प्रदेश अध्यक्ष डॉ रंजू गीता पार्टी की समीक्षा बैठक में शामिल होने के पहुंची थी।
जदयू समाज सुधार वाहिनी की प्रदेश अध्यक्ष डॉ रंजू गीता पार्टी की समीक्षा बैठक में शामिल होने के पहुंची थी।

दरअसल, जिले में JDU इन दिनों दो खेमों में बंट गई है। इसको लेकर समीक्षा बैठक हो रही थी, जिसमें विवाद हो गया। कुछ नेताओं का कहना था कि रेखा देवी राजनीति में नई हैं, इस कारण जिसने जैसा कहा वैसा करते चली गई। रेखा प्रख्यात शिशु रोग विशेज्ञ डॉ मनोज कुमार की पत्नी हैं और इनको चुनाव जीतने के लिए विधानसभा के उप नेता देवेश चंद्र ठाकुर पूर्ण रूप से लगे थे। बताया जा रहा है कि डॉ. गीता ने अपने बयान से ठाकुर पर ही निशाना साधा है। बैठक में जिले के प्रभारी प्रदेश महासचिव मेजर इक़बाल हैदर भी थे।

DDC की चप्पल से पिटाई कर डॉ रंजू गीता ने सियासी एंट्री मारी थी।
DDC की चप्पल से पिटाई कर डॉ रंजू गीता ने सियासी एंट्री मारी थी।

बताई अपनी हैसियत

बैठक के दौरान गीता ने संगठन की मजबूती पर प्रकाश डालते हुए अपनी हैसियत भी बताने लगीं। उन्होंने कहा, 'पटना की जमीन का आधा कट्‌ठा बेचकर सीतामढ़ी के सभी नेताओं को खरीद लूंगी।' इसी दौरान पार्टी की MLC प्रत्याशी की जीत पर उन्होंने कहा, 'यदि बाजपट्टी बोखरा और नानपुर का सपोर्ट ना होता तो वह चुनाव नहीं जीत पाती।' गीता ने कहा कि कोई मुझे धन दौलत को लेकर धमकी नहीं दे सकता है। मुझे खरीदने की हैसियत नहीं है।

उन्होंने कहा कि वह पटना का आधा कट्ठा जमीन बेंच दे तो जिले के सारे नेताओं को खरीद लेंगी।
उन्होंने कहा कि वह पटना का आधा कट्ठा जमीन बेंच दे तो जिले के सारे नेताओं को खरीद लेंगी।

DDC को चप्पल से पीटकर आईं थी चर्चा में

2006 में जिला परिषद चुनाव में शानदार जीत के बाद डॉ रंजू गीता सक्रिय राजनीति में आईं। नवंबर 2010 में बाजपट्टी विधानसभा से बिहार विधानसभा की सदस्य चुनी गईं। वह दो बार बाजपट्टी विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। इसी बीच उन्हें सरकार में शामिल करते हुए गन्ना उद्योग मंत्री बनाया गया था। वर्तमान में रंजू जनता दल (यूनाइटेड) बिहार इकाई की उपाध्यक्ष के साथ-साथ समाज सुधार वाहिनी की प्रदेश अध्यक्ष हैं।

बता दें, इससे पहले 2007 में जिला परिषद की बैठक में वह किसी बात पर भड़क गईं थी और भरी सभा में उन्होंने तात्कालीन DDC की चप्पल से पिटाई कर दी थी। इस केस में उनको 14 दिन जेल में भी रहना पड़ा था।