अपहरण कर भाग रहे लोगों को पुलिस ने दबोचा:एसएसबी के एसआई समेत छह लोगों गिरफ्तार, पैसों के लेन-देन का है मामला

सीतामढ़ी2 महीने पहले
पुलिस ने 6 आरोपियों को किया गिरफ्तार

सीतमढ़ी से एक युवक का अपहरण कर भाग रहे एसएसबी के एसआई समेत 6 लोगों को पुलिस ने पीछा कर गिरफ्तार कर लिया हैं। मामला सुरसंड थाना क्षेत्र के मझौरा गांव का है, जहां से एक आदमी का अपहरण कर भाग रहे लोगों को दरभंगा के जाले में पकड़ लिया गया। इसमें एसएसबी के सब इंस्पेक्टर सहित छह लोग शामिल थे। पूछताछ के बाद सुरसंड पुलिस ने सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

पैसे के लेन-देन से जुड़ा है मामला

दरअसल, मझौरा गांव निवासी शुभरंजन कुमार मनी ट्रांसफर का काम करता है। उसने समस्तीपुर के ताजपुर थाना के इन्दरवारा के विकास कुमार सहनी सरायरंजन में टाईल्स मारबल की दुकान से एक लाख का सामान खरीदा था। रुपये देने में आनाकानी पर विकास सहनी ने शुभरंजन कुमार के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करवाया। इसके बावजूद रुपये नहीं मिलने पर शुक्रवार को विकास सहनी और उसका साढ़ू एसएसबी सब इंस्पेक्टर राजेश कुमार सहनी, वैशाली के मोहजमा चकौली निवासी दोस्त अंकेश कुमार, वैशाली के जन्दाहा थाना के मलाही के सोनेलाल कुमार, मोहिउद्दीनगर निवासी गौतम कुमार और अपने ग्रामीण सुबोध कुमार मिश्रा के साथ सुरसंड के मझौरा पहुंचा। उसकी मंशा शुभरंजन कुमार को पकड़ साथ ले जाने की थी, ताकि उसका रुपया मिल सके।

पुलिस ने पीछा कर आरोपियों को किया गरफ्तार

सभी आरोपी दोपहर बाद ही मझौरा पहुंचकर शुभरंजन की दुकान के आसपास मंडराने लगा। मोबाइल पर कॉल कर उसे दुकान पर बुलाया गया। शुभरंजन ने अपने यहां काम करने वाले कैलाश पंडित और उसके भतीजा रवि पंडित को भेजा। उक्त लोगों ने कैलाश और रवि पंडित को वाहन में बंद कर लिया और चल दिया। बाद में उनलोगों ने रवि पंडित को कुछ दुर ले जाकर छोड़ दिया, लेकिन कैलाश पंडित को जबरन लेकर जाने लगा। इसी दौरान दरभंगा के जाले में कैलाश पंडित ने भीड़ देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया। भीड़ ने सभी लोगों को पकड़कर जाले पुलिस के हवाले कर दिया। इधर मझौरा से अपहरण की सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष नवलेश कुमार आजाद और एसआई नेहा कुमारी सशस्त्र बलों के साथ अपहर्ताओं के भागने की दिशा में पीछा करने लगे। थानाध्यक्ष श्री आजाद ने बताया कि जाले पुलिस से संपर्क कर अपहृत को बरामद करते हुए सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है।