सीतामढ़ी में निरीक्षण के बाद ही टूट गया बांध:पानी किसानों के खेत से होते हुए गांव तक पहुंचा, लोगों में दहशत

सीतामढ़ी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीतामढ़ी में सरकारी काम का पोल एक बार फिर खुल गया। शुक्रवार को निर्माणाधीन बांध निरीक्षण के बाद टूट गया। पानी किसानों के खेत से होते हुए गांव तक पहुंच गया। दरअसल, सोनबरसा स्थित खाप-खोपराहा में नए निर्माणाधीन बांध का निरीक्षण हुआ था। बांध टूटने से पानी का तेज बहाव होने लगा। पानी इतनी तेज रफ्तार से बह रहा था कि गांववालों के खेतों से होते हुए निकलने लगा। इससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल बन गया। लोग डर से गांव की तरफ भागने लगे।

बाढ़ के समय में क्या होगा

स्थानीय लोगों ने बताया कि अगर पानी इसी तरह बहता रहा तो देर रात तक गांव में पहुंच जाएगा। अगर अभी नदी की यह स्थिति है तो बाढ़ के समय में क्या होगा? लोगों के मन में जून और जुलाई के बाढ़ के पानी का डर सताने लगा है। संभावित बाढ़ से इलाके के करीब 25 हजार की आबादी प्रभावित हो सकती है। लोगों का कहना है कि सरकार को पहले मजबूती से बांध का निर्माण कराकर नदी की उड़ाही (टेस्ट) करनी चाहिए थी। इस योजना के तहत 2016 में ही 100 करोड़ का आवंटन किया गया था, लेकिन जमीन अधिग्रहण के कारण अब तक उड़ाही नहीं हो पाई थी।