सीवान में ट्रेन रोककर बंद होता है फाटक:इंजन में सवार होकर फाटक पार करते हैं, फिर ट्रेन से उतरकर खोला जाता

सीवान2 महीने पहले

सीवान में रेलवे का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां ट्रेन को रोककर फाटक बंद किया जाता है। उसके बाद कर्मचारी इंजन में सवार होकर ट्रेन को फाटक पार कराता है। फिर थोड़ी दूरी पर जाकर ट्रेन दोबारा रुकती है और फिर कर्मचारी उतर कर वापस फाटक खोलता है।

यह पूरा मामला सीवान-मशरक रेलखंड पर स्थित महाराजगंज शहर मुख्यालय से सटे रगडगंज ढाला का है। तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि सीवान मशरख रेलखंड पर चलने वाली मशरक-महाराजगंज- थावे अनारक्षित ट्रेन के इंजन में सवार एक कर्मचारी समपार फाटक से थोड़ी दूरी पर ट्रेन से उतरता है फिर समपार फाटक को धीरे-धीरे बंद करता है।

ट्रेन को रोककर विभाग के कर्मचारी फाटक को बंद करते हैं।
ट्रेन को रोककर विभाग के कर्मचारी फाटक को बंद करते हैं।

उसके बाद ट्रेन के चालक को इशारा करता है और ट्रेन में सवार हो जाता है। ट्रेन स्टार्ट होकर कुछ दूरी पर जाकर फिर रुक जाती है। इसके बाद वह कर्मी वापस ट्रेन से उतरता है समपार फाटक को खोलता है। इसके बाद फिर ट्रेन में सवार होकर अगले स्टेशन के लिए रवाना हो जाता है।

वाराणसी के जनसंपर्क अधिकारी का कहना है कि कर्मचारी नियम से काम कर रहे है।
वाराणसी के जनसंपर्क अधिकारी का कहना है कि कर्मचारी नियम से काम कर रहे है।

फाटक बंद किए बगैर भी चली जाती है ट्रेन

महाराजगंज अनुमंडल शहर मुख्यालय के रगड़गंज के रहने वाले विवेक महतो ने बताया कि रेलवे विभाग की यह पहली लापरवाही नहीं है। इससे पहले भी कई बार ट्रेन बिना समपार फाटक बंद किए बगैर ही चली गई। अगर रेलवे विभाग की इस तरह की लापरवाही रहेगी तो एक दिन एक बड़ा हादसा हो सकता है।

क्या कहते हैं अधिकारी

इस मामले में वाराणसी के जनसंपर्क अधिकारी अशोक कुमार ने बताया कि इसे हम सिंगल ट्रेन सिस्टम कहते है। हमारे यहां जो भी कर्मचारी काम कर रहे हैं वह नियम संगत से कर रहे है। हमारे यहां यह नियम है कि ट्रेन को रोककर ही समपार फाटक को बंद किया जाएगा।

वहीं इस मामले में सीनियर सेक्शन इंजीनियर गोरखपुर के उपेंद्र सिंह ने बताया कि महाराजगंज मसरख रेलखंड पर कहीं भी क्रॉसिंग स्टेशन नहीं है। जिसकी वजह से दिक्कत होती है। स्टेशन से उस ढाले तक सिग्नल भेज पाना मुमकिन नहीं होता है। इसी वजह से ट्रेन रोककर ही ढाले को बंद किया जाता है। अब कुछ जगहों पर अंडर पासिंग तैयार हो रहा है जिसकी वजह से समस्या दूर हो जाएगी।