• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Siwan
  • Passenger Trains Closed In Kovid Did Not Start To Go To Patna, 1000 Passengers Are Traveling Daily By Other Means

असुविधा:पटना जाने के लिए कोविड में बंद पैसेंजर ट्रेनें नहीं हुईं चालू, रोज 1000 यात्री दूसरे माध्यम से कर रहे यात्रा

सीवान21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सीवान स्टेशन पर यात्री। - Dainik Bhaskar
सीवान स्टेशन पर यात्री।
  • गोपालगंज के रास्ते चला दी गई ट्रेन, सीवान में सुबह 7:00 बजे था समय

गोरखपुर से सीवान होकर पाटलिपुत्र स्टेशन जाने वाली पैसेंजर ट्रेन का परिचालन कोरोना वायरस की पहली लहर के दौरान ही बंद कर दी गई। लेकिन अब सभी ट्रेनों का परिचालन सामान्य कर दिया गया है, फिर भी बंद की गई पैसेंजर ट्रेन का परिचालन अभी तक शुरु नहीं किया गया। इससे यात्रियों को पटना तक यात्रा करने में काफी कठिनाई झेलनी पड़ रही है। इस वजह से रेलवे के प्रति लोगों के बीच नाराजगी है। इस ट्रेन के परिचालन नहीं हाेने से पचरुखी, दरौंदा, एकमा समेत अन्य कई स्टेशनों से पटना जाने के लिए यात्रियों के पास कोई अन्य ट्रेन नहीं है। इसलिए यहां के लोग बस या अन्य साधनाें से यात्रा करने के लिए मजबूर है, जिसे आर्थिक परेशानी के साथ समय भी ज्यादा लगाना पड़ता है। गोरखपुर से पाटलीपुत्र स्टेशन के लिए 55008 नम्बर की पैसेंजर ट्रेन का परिचालन हो रहा था। यह ट्रेन कप्तानगंज, थावे होकर सीवान स्टेशन पर सुबह 7 बजे पहुंचती थी। पटना जाने वाले यात्री इस ट्रेन पर सवार होकर जाते थे। साथ ही दिन में अपनी काम कराने के बाद वे फिर पाटलीपुत्र से गोरखपुर जाने वाली 55007 नम्बर की ट्रेन से वापस आ जाते थे। पाटलीपुत्र से सीवान यह ट्रेन रात 9:40 बजे पहुंचती थी। इससे लोग एक ही दिन में पटना से काम कराकर वापस अपने घर आ जाते थे। लेकिन रेलवे द्वारा अभी तक इस ट्रेन का परिचालन शुरु नहीं कराया गया।

नंबर बदलकर गोरखपुर से चलायी जा रही ट्रेन
छह माह पहले गोरखपुर से पाटलिपुत्र के लिए एक पैसेंजर ट्रेन नम्बर बदल कर चलाई जा रही है। लेकिन इसे कप्तानगंज, थावे, गोपालगंज हाेकर मशरख के रास्ते पाटलिपुत्र स्टेशन तक चलाई जा रही है। इस तरह कोविड के बाद जब ट्रेनों का परिचालन सामान्य हुआ तो सीवान इस ट्रेन सेवा के लाभ से वंचित हो गया। जबकि रेलवे ने गोपालगंज जिले के लोगों के लिए भरपुर लाभ पहुंचाया। फिर भी इस जिले के किसी भी जनप्रतिनिधियों ने इसका विरोध नहीं किया।

खबरें और भी हैं...