• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Siwan
  • The Wife Was Madly In Love With The Lover, Committed Suicide By Hanging In His Desire; Husband Also Killed By In laws

सीवान में आशिकी का खौफनाक अंत!:प्रेमी के प्यार में पागल थी पत्नी, उसकी चाहत में फांसी लगाकर की आत्महत्या; पति को भी ससुरालवालों ने मार डाला

सीवान3 महीने पहले

सीवान में जिन्होंने सात फेरों के साथ एक-दूजे का हाथ थामा था, वही एक-दूसरे की मौत का कारण बन गया। शादी के डेढ़ साल बाद भी पत्नी अपने प्रेमी के प्यार में डूबी रही। पति ने विरोध किया तो फांसी से फंदे पर लटक कर जान दे दी, जबकि घटना के ढाई महीने बाद ससुराल वालों ने पति की हत्या कर पेड़ से लटका दिया। सीवान में घटित इस विचित्र घटना ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है। मामला एमएच नगर हसनपुरा थाना क्षेत्र के अरंडा गांव का है।

तकरीबन डेढ़ साल पूर्व अरंडा गांव निवासी रामअशीष साह के 25 वर्षीय पुत्र राजा कुमार की शादी मुफस्सिल थाना क्षेत्र के पुरैना निवासी 23 वर्षीय कल्पना कुमारी के साथ हिंदू रीति-रिवाज के साथ हुई थी। हालांकि शादी के कुछ माह बाद से ही पति-पत्नी का वैवाहिक जीवन शक के दायरे में कटने लगा था। पति राजा के अनुसार उनकी पत्नी कल्पना के किसी अंजन गुप्ता के साथ अवैध संबंध थे। पत्नी हमेशा उसके साथ फोन पर बातें करती थी। खामियाजा यही रही कि पति-पत्नी के बीच मनमुटाव होते चले गए। बाद में पत्नी को भी अपने पति पर किसी गैर लड़की के साथ संबंध स्थापित करने का पता चला था। जिसके बाद दोनों के बीच तकरार होने लगे थे।

13 मार्च को पति के साथ फोन पर बात करते हुए पत्नी कल्पना ने आवेश में आकर फांसी के फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी थी। इस मामले में मृतका के परिवार वालों ने दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए दमाद, सास ससुर के अलावे परिवार के कुल 7 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। हत्या के मामले में नाम आने के बाद परिवार के सभी लोग घर छोड़कर पुलिस से बचने के लिए इधर-उधर भागे फिर रहे थे। पति राजा गुजरात की किसी कंपनी में प्राइवेट नौकरी करता था।

27 अप्रैल को कोर्ट में सरेंडर के लिए अपने गांव लौटा था राजा

27 अप्रैल को कोर्ट में सरेंडर के लिए मृतका के पति राजा गुप्ता अपने गांव लौटा था। इसी दौरान अपने दोस्तों से मिलने के लिए दरौंदा गया हुआ था। जिसके बाद ससुराल के रहने वाले चाचा सुदीश साह ने अन्य लोगों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर शव को दरौंदा थाना क्षेत्र के धनौती गांव के महावीर मंदिर के समीप पेड़ से लटका दिया था। बकायदा मरने से पहले युवक ने सभी गुनहगारों का नाम अपने फेसबुक पर लाइव आकर मामले का उद्भेदन किया था।

मां-बाप को नसीब नहीं हुआ बेटे का आखिरी चेहरा

राजा गुप्ता की हत्या के बाद पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम के बाद परिवार में रह रहे इकलौते बड़े भाई सुनील कुमार गुप्ता को सौंप दिया। गौरतलब है कि मृतका कल्पना के परिवार वालों ने केवल सुनील गुप्ता को छोड़कर परिवार के बाकी अन्य 7 सदस्यों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना में हत्या का नामजद अभियुक्त बनाया है। तब से लेकर अब तक पुलिस से बचने के लिए परिवार के सभी सदस्य इधर-उधर भटकने को मजबूर है। दरौंदा में राजा की हत्या के बाद उसका शव जैसे हैं उनके पैतृक गांव अरंडा पहुंचा पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया। मृतक राजा गुप्ता के आखिरी चेहरा तक उनके मां-बाप को नसीब नहीं हुआ।

मृतक राजा के परिवार के तरफ से थाने में नहीं पड़ी आवेदन

दरौंदा थानाध्यक्ष कैप्टन शहनवाज ने बताया कि मृतक के राजा गुप्ता के परिवार के तरफ से इस मामले में अभी तक किसी प्रकार की आवेदन नहीं दिया गया है। बावजूद पुलिस इस मामले के उद्भेदन के लिए लगी है। प्रथम दृष्ट्या यही लगता है कि उसकी हत्या ससुराल वालों ने एक साजिश के तहत की है। बकायदा मृतक ने मरने से पहले का ऑडियो क्लिप जारी किया था। इसमें अपने ससुराल के चाचा और एक भाई जो मोबाइल का दुकान चलाता है उसका उस क्लिप में जिक्र किया था। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

कौन था अंजन गुप्ता, कौन था राहुल जिससे राजा लगा रहा था मदद का गुहार

हत्या के चंद घंटों पहले मृतक ने एक ऑडियो क्लिप जारी कर अपनी पत्नी कल्पना कुमारी की किसी अंजन गुप्ता के साथ अवैध संबंध का जिक्र किया था। हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि अंजन गुप्ता कौन है और कहां का रहने वाला है। उन्होंने अपने ऑडियो क्लिप में किसी राहुल से बार-बार मदद करने की गुहार लगाते हुए अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की थी। इसमें राजा गुप्ता के परिवार वाले भी इन दोनों नाम से अपरिचित हैं।