• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Supaul
  • DEMU Train Reached Jhanjharpur At 4 O'clock In Saraigarh, Three Pairs Of Passenger Trains Will Run Regularly From Today

88 वर्ष बाद चली ट्रेन:झंझारपुर से चार बजे डेमू ट्रेन पहुंची सरायगढ़ आज से नियमित चलेगी तीन जोड़ी पैसेंजर ट्रेन

सुपौल9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सरायगढ़ रेलवे स्टेशन पर सज-धज कर चार बजे पहुंची डेमू ट्रेन। - Dainik Bhaskar
सरायगढ़ रेलवे स्टेशन पर सज-धज कर चार बजे पहुंची डेमू ट्रेन।
  • सरायगढ़, निर्मली, झंझारपुर के रास्ते दरभंगा तक आज से होगा नियमित रेल परिचालन
  • पहली बार निर्मली रेलवे स्टेशन से महासेतु होकर लोगों ने किया ट्रेन का सफर

कोशी व मिथिलांचलवासियों के लिए शनिवार का दिन कई मायने में अहम साबित हुआ। आज करीब 88 वर्षों से अलग कोशी व मिथिलांचल वासियों के लिए रेल परिचालन से जुड़ गए। इसके लिए लोगों में खुशी का माहौल व्याप्त है। लोगों के लिए यह पल काफी मायने में ऐतिहासिक साबित हो रहा है। दो भागों में विभक्त कोशी व मिथिलांचल का केन्द्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने दिल्ली से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ‌के माध्यम से हरी झंडी दिखाकर ट्रेन को रवाना किए। जहां झंझारपुर में आयोजित इस कार्यक्रम उद्घाटन समारोह में कई मंत्री व विधायक ने हिस्सा लिया। वहीं उद्घाटन के बाद झंझारपुर से चलकर निर्मली, आसनपुर खुटहा, कोसी रेल महासेतु होकर सरायगढ़ स्टेशन डेमू ट्रेन 4 बजे दोपहर पहुंची। जहां इस ट्रेन को देखने के लिए स्थानीय लोगों की काफी भीड़ जुड़ चुकी थी। जिला मुख्यालय में उपस्थित भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष नलिन जायसवाल ने कहा कि जिले के रोज सैकडों लोग इलाज के लिए दरभंगा जाते है। 03 जोड़ी ट्रेन मिलने से लोगों को अब दरभंगा जाने में काफी सहूलियत होगी। एक ही दिन में लोग जाकर लौट भी सकेंगे। वहीं भाजपा के युवा नेता सुमन झा ने इसे आम लोगों के लिए रेलवे का बड़ा सौगात बताया। हालांकि पहले दिन ट्रेन में ना के बराबर यात्री नजर आए। बता दें रविवार से सुबह से प्रतिदिन मिलेगी 3 जोड़ी डेमू स्पेशल ट्रेन सहरसा- लहेरियासराय के बीच चलेगी।

ट्रेन 4 बजे सुपौल पहुंची व 4:15 बजे सहरसा के लिए खुली
लोको पायलट मनोज कुमार यादव ने बताया कि झंझारपुर से पहली बार ट्रेन को लाया गया। जहां काफी मायने में अच्छा है। लोगों को काफी सुविधा होगी। यह ऐतिहासिक पल है। जो इस रुट पर चलाने का मौका मिला है। सरायगढ़ स्टेशन अधीक्षक ने बताया कि डेमू ट्रेन 4 बजे पहुंची एवं 4:15 बजे सहरसा के लिए रवाना किया गया। इस महत्वाकांक्षी रेल परियोजना की सौगात के लिए लोगों ने रेल मंत्री सहित स्थानीय मंत्री व विधायक के प्रति आभार प्रकट किया है। जहां लोगों के लिए ऐतिहासिक पल साबित हुआ। मालूम हो कि करीब 88 वर्षों बाद कोशी व मिथिलांचल के जुड़ जाने से लोगों के लिए बड़ी सौगात है। वर्ष 1934 को आई प्रलयंकारी भूकंप के बाद कोसी व मिथिलांचल रेल यातायात सेवाएं बाधित हो गया था। जहां नेताओं व जनप्रतिनिधियों के अथक प्रयास से आज कोसी व मिथिलांचल की दूरी कम हो गई है। जहां लोगों के लिए वरदान साबित हुआ। मालूम हो कि 6 जून 2003 को निर्मली में पूर्व प्रधानमंत्री स्व अटल बिहारी बाजपेयी ने रेल परिचालन की नींव रखी थी। जहां लंबे वर्षों बाद शनिवार बड़ी सौगात मिली है। बताया जा रहा है कि सहरसा, सुपौल, सरायगढ़, निर्मली झंझारपुर, दरभंगा की दूरी कम हो गई। प्रखंड क्षेत्र के लोगों ने इस महत्वाकांक्षी रेल परियोजना को लेकर केंद्रीय मंत्री सहित सूबे के मंत्री, सांसद व विधायक के प्रति आभार प्रकट करते हुए बधाई दी है।

तीनों ट्रेन की समय सारणी

गाड़ी संख्या 05544 06.01 बजे सुपौल, 07.00 बजे सरायगढ़, 07.37 बजे निर्मली, 08.23 बजे झंझारपुर, 10.08 बजे सकरी, 11.10 बजे दरभंगा रूकते हुए 11.30 बजे लहेरियासराय पहुंचेगी ।
गाड़ी संख्या 05548 11.54 बजे सुपौल, 12.50 बजे सरायगढ़, 13.25 बजे निर्मली, 14.18 बजे झंझारपुर, 15.12 बजे सकरी, 16.55 बजे दरभंगा रूकते हुए 17.15 बजे लहेरियासराय पहुंचेगी ।
गाड़ी संख्या 05546 सहरसा से 18.35 बजे खुलकर 19.21 बजे सुपौल, 20.42 बजे सरायगढ़, 21.19 बजे निर्मली, 22.13 बजे झंझारपुर, 22.46 बजे सकरी, 23.30 बजे दरभंगा रूकते हुए 23.55 बजे लहेरियासराय पहुंचेगी।

3:26 बजे निर्मली पहुंची ट्रेन

निर्मली| शनिवार का दिन कोसी एवं मिथिला क्षेत्र के लोगों के लिए ऐतिहासिक रहा। रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरी झंडी दिखाकर मधुबनी जिला के झंझारपुर रेलवे स्टेशन से दोपहर 2:12 बजे रवाना किए। झंझारपुर से गाड़ी नंबर 05553 को दो पायलट मनोज कुमार यादव व छोटे कामेत ने घोघरडीहा होते हुए 3:26 बजे निर्मली रेलवे स्टेशन पहुंचे। निर्मली स्टेशन पर मात्र 2 मिनट ट्रेन रुकी और 3:28 बजे फिर आसनपुर कूपहा के लिए रवाना हो गई। ट्रेन निर्मली पहुंचते ही लोगों में खुशी का ठिकाना नहीं रहा। लोगों ने ताली बजाकर स्वागत करते हुए खुशी जाहिर किया। इलाकों के लोगों के लिए जब पहली बार निर्मली रेलवे स्टेशन पर झंझारपुर से सवारी गाड़ी निर्मली होते हुए कोसी महासेतु होकर सुपौल सहरसा तक के लिए प्रस्थान किया। हजारों की संख्या में लोगों ने ताली बजा कर स्वागत किया। स्टेशन परिसर में निर्मली सहित सुपौल मधुबनी जिले के दर्जनों गांव के लोगो की भीड़ उमड़ पड़ी। लोगो ने ऐतिहासिक पल को अपने नजरों से देखा।

शाम के 05 बजे सुपौल पहुंची ट्रेन, लोगों में दिखा उत्साह

रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव द्वारा झंझारपुर में विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से उद्घाटन कर 2:11 बजे स्पेशल डेमू ट्रेन को झंझारपुर से रवाना किया गया। 88 साल बाद झंझारपुर के खुलकर डेमू स्पेशल ट्रेन निर्मली सरायगढ़ होते हुए 75 किलोमीटर की दरी तयकर शाम के 05 बजे सुपौल पहुंची। जहां करीब 04 मिनट के ठहराव के बाद 05:04 बजे ट्रेन सहरसा के लिए रवाना हो गई। नई ट्रेन मिलने से सुपौल वासियों में हर्ष का माहौल दिखा। ट्रेन को देखने कई स्थानीय प्रतिनिधि सहित दर्जनों लोग रेलवे स्टेशन पर उपस्थित थे।

थरबिटिया में हाथ हिलाकर लोगों ने किया ट्रेन का अभिवादन
किशनपुर| लेहरियासराय से सहरसा तक जाने वाली स्पेशल ट्रेन की आगमन को लेकर शनिवार को थरबिटिया रेलवे स्टेशन परिसर में बाजार सहित आसपास गांव के लोगों ने स्टेशन पर पहुंचकर ट्रेन में बैठे लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। इस मौके पर सैकड़ों ग्रामीणों ने 2:00 बजे से ही ट्रेन की इंतजार में बैठे रहे। ट्रेन देखने के लिये लोगों में काफी खुशी का माहौल देखा गया आम लोगों द्वारा बताया गया कि अब इस इलाके के लोगों को इलाज हेतु दरभंगा जाने आने में काफी आसान हो गया है। थरबिटिया रेलवे स्टेशन परिसर में उपस्थित ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि इस स्टेशन से 5 जोड़ी ट्रेन गुजरेगी। अब लोगों को कहीं जाने आने में कोई परेशानी नहीं होगी। साथ हीं व्यापार में भी काफी बढ़ोतरी होगी।

खबरें और भी हैं...