प्रेम में असफल होने पर प्रेमिका की हत्या:वैशाली में छात्रा नीतू हत्याकांड का किया खुलासा, तीन अभियुक्तों को किया अरेस्ट

हाजीपुर (वैशाली)4 महीने पहले

वैशाली के महुआ थाना क्षेत्र के चकफतेह गांव में बीते 12 मई को इंटर की छात्रा नीतू कुमारी की हुई हत्या का महुआ पुलिस ने खुलासा कर दिया है। मामले में पुलिस ने तीन अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबकि एक अन्य अभियुक्त अभी भी फरार है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार इस संबंध में महुआ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पूनम केसरी ने बताया कि बीते 12 मई को चकफतेह गांव में छात्रा नीतू की गोली मारकर की गई। हत्या के बाद आरक्षी अधीक्षक मनीष के निर्देश पर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए प्रशिक्षु पुलिस उपाधीक्षक कुमारी दुर्गा शक्ति के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई थी। 5 दिन के कड़ी मेहनत के बाद नीतू हत्या कांड का उद्भेदन किया गया।

इसमें शामिल मुख्य आरोपी भगवानपुर थाना क्षेत्र के वीशनपुर बांदे गांव निवासी संजय सिंह के पुत्र राहुल सिंह को खगरिया से गिरफ्तार कर लिया गया जबकि इसी थाना क्षेत्र के रहसा पूर्वी से राजीव कुमार के पुत्र अमन कुमार तथा गोरौल थाना क्षेत्र के छितरौली गांव निवासी वीरचंद्र प्रसाद सिंह के पुत्र विनय कुमार को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार राहुल कुमार सिंह ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसके निशानदेही पर ही छात्रा की हत्या की गई थी। हत्या में इस्तेमाल किए गए रिवाल्वर को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है। गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि प्रेम प्रसंग को लेकर छात्रा की हत्या हुई थी।

प्रेम में असफल राहुल ने छात्रा नीतू को मारी थी गोली
इस संबंध में अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी पूनम केसरी ने बताया कि नीतू और राहुल में पहले से प्रेम प्रसंग चल रहा था। लेकिन बाद में नीतू ने उससे दूरी बना ली और उसका मोबाइल नंबर ब्लॉक कर दिया इसके बाद कई बार राहुल उसे संपर्क करने की कोशिश की लेकिन नीतू द्वारा इंकार कर दिया गया और उसका मोबाइल ब्लॉक कर दिया गया। इससे नाराज होकर राहुल कुमार ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर 12 मई को कोचिंग से लौट रहे नीतू की रसूलपुर ऊर्फ मधौल पंचायत भवन के पास गोली मारकर हत्या कर दी थी।