कोरोना वायरस / बेहड़ा स्थित मीट प्लांट में 10 नए केस आने के बाद प्लांट सील, माइक्रो कंटेनमेंट एरिया घोषित

Meat plant seal, micro containment area declared after 10 new cases
X
Meat plant seal, micro containment area declared after 10 new cases

  • मरीज ज्ञान सागर हॉस्पिटल में एडमिट, चार हफ्ते से बंद मुबारिकपुर खुला

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

डेराबस्सी. डेराबस्सी के गांव बेहड़ा स्थित मीट प्लांट में काेरोना संक्रमण के 10 नए केस पॉजिटिव पाए गए हैं। प्लांट की कोरोना चेन से जुड़े अब तक 19 लोग संक्रमित पाए गए हैं, इसके चलते न केवल इस प्लांट माइक्रो कंटेनमेंट में तब्दील कर दिया गया बल्कि प्लांट भी सील करके बंद किया गया है। दूसरी ओर बीते करीब 4 हफ्ते से बंद मुबारिकपुर, मीरपुर इलाके से आज कंटेनमेंट हटा ली गई। इससे सैकड़ों दुकानदारों समेत लोगों ने राहत की सांस ली है। 
बेहड़ा के मीट प्लांट के जनरल मैनेजर, उनके पारिवारिक सदस्यों और पांच लेडीज वर्कर समेत कुल 9 लोग की काेरोना टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव पाए जाने पर सेहत विभाग की टीम ने प्लांट की अलग-अलग 7 यूनिट में कार्यरत 48 वर्कर के सैंपल लिए थे। इन सैंपल की रिपोर्ट मंगलवार को आई। इनमें 10 और वर्कर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसका पता चलते ही सेहत विभाग समेत प्रशासन में हड़कंप मच गया। हालांकि, प्लांट का पैकिंग यूनिट 3 दिन पहले ही सील कर दिया गया था परंतु आज प्लांट के बाकी के यूनिट भी सील कर दिए गए हैं।

सभी 10 संक्रमित वर्कर्स को बनूड़ के ज्ञान सागर अस्पताल शिफ्ट किया गया है। मीट प्लांट में अलग-अलग यूनिट्स में 125 वर्कर कार्यरत हैं। प्लांट की कोरोना चेन से जुड़े 19 लोग पॉजिटिव आने के बाद यह मीट प्लांट डेराबस्सी हलके की पहली इंडस्ट्री है जिसे संक्रमित केसों के कारण न केवल सील किया गया बल्कि प्लांट को माइक्रो कंटेनमेंट भी घोषित किया गया है। हालांकि बीयर फैक्ट्री में भी कंटेनमेंट जैसी नौबत आ सकती थी परंतु वहां 9 किए जाने के बाद स्थिति अब नियंत्रण में है। 

राहत: मीरपुर और मुबारिकपुर में खुली दुकानें
डॉ. हरमन कौर बराड़ ने बताया कि 10 केस आने के बाद की बेहड़ा के मीट प्लांट को माइक्रो कंटेनमेंट जोन में बदला गया है। उन्होंने बताया कि मुबारिकपुर और मीरपुर भी बंद किए गए थे, 10 दिनों से कोई नया पॉजिटिव केस नहीं मिलने पर कंटेनमेंट हटा ली गई है। मुबारिकपुर और मीरपुर में दुकानें भी खुल गई हैं, ऐसे में दुकानदारों ने राहत की सांस ली है।

एसएमओ डाॅ. संगीता जैन ने कहा कि माइक्रो कंटेनमेंट के कारण साथ लगता गांव बेहड़ा भी बफर जोन में है। सेहत विभाग ने वहां पर भी सर्वे शुरू कर दिया है। मीट प्लांट के कुछ वर्कर इस गांव में रहते हैं जिनके रिश्तेदार या साथ रहने वाले किराएदार दूसरे मीट प्लांटों में काम करते हैं। सर्वे के दौरान इन लोगों पर खास फोकस रखा जाएगा ताकि अन्य किसी मीट प्लांट या फैक्ट्री में आगे यह संक्रमण न फैले।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना