पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समस्या:पहाड़ी क्षेत्र के लोगों की सुविधा के लिए बनाए काज-वे तारापुर के लोगों के लिए बने खतरा

कुराली10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव तारापुर के काज-वे में लक्कड और झाड़ियां फसने कारण आई रुकावट। - Dainik Bhaskar
गांव तारापुर के काज-वे में लक्कड और झाड़ियां फसने कारण आई रुकावट।
  • पहाड़ी क्षेत्र से आना वाला पानी गांव के काफी हिस्से को बहाकर ले जा सकता है

ब्लॉक माजरी में शिवालिक की पहाड़ियाें में वसे गांव तारापुर को जाने वाली सड़क पर लोगों की सुविधा के लिए सरकार की ओर से बनाए काज-वे लोगों के लिए परेशानी का कारण बने हुए है। बरसात के मौसम दौरान पहाड़ी क्षेत्रों में होने वाली बारिश कारण यह काज-वे गांव में बाढ वाली स्थिति पैदा कर देते है। गांव वासियों ने काज-वे कारण पैदा हुई समस्या के हल की मांग की है।

इस संबंधी जानकारी देते हुए गांव वासी प्रीतम सिंह, दरबारा सिंह, सोमनाथ, राम करण और गुरचरण सिंह सहित अन्य ने बताया कि मीयापुर चंगर से उनके गांव को आने वाले रास्ते में आती नदी पर तीन काज-वे बनाए हुए है। उन्होंने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए बनाए तीन काज-वे उनकी जान के लिए खतरा बनते जा रहे है। गांववासियों ने बताया कि पिछली गठजोड़ सरकार समय बनाए गए काज-वे छोटे आकार के हैँ और इनके नीचे से पानी निकलने के लिए बने होल भी काफी छोटे आकार के है।

गांव वासियों ने बताया कि पहाड़ी क्षेत्र में बारिश दौरान ऊपर से पानी में जंगली लकडी और झाड़ियां भी बहकर आ जाता है। और यह लक्कड और झाड़ियां आदि काज-वें में आकर फंस जाती है। लोगों ने बताया कि इस सडक पर गांव तारापुर बेला और तारापुर दोनों जगह पर बनाए काज-वे में आमतौर पर रुकावट पड़ने कारण पानी का निकास बंद हो जाता है जिस कारण उनको भारी नुकसान झेलना पड़ता है। 

उन्होंने कहा कि पहाड़ों से आने वाले पानी का बहाव तेज होने कारण वे काज-वे में फंसी लक्कड़ और झाड़ियों को निकाल कर रूकावट को दूर करने से भी असमर्थ है। किसानों ने बताया कि इस कारण उनकी फसलों का भी भारी नुकसान होता है। प्रीतम चंद और अन्य ने बताया कि रविवार को हुई बारिश दौरान पहाड़ों से आई लक्कड़ और झाड़ियां फंसने कारण गांव में बनाया काज-वे बंद हो गया  तथा तेज बहाव वाले पानी की निकासी रूकने कारण गांव की कई रिहायशी कॉलोनियों में पानी भरने लग गया लेकिन बारिश बंद होने कारण उनका बचाव हो गया। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष उनकी गांव की कॉलोनी और पशुओं के बाडो में 7-7 फुट पानी भरने कारण पशु भी बह गए थे।

गांव वासियों ने बताया कि ये काज-वे उनकी जान के लिए खतरा बने हुए है तथा पहाड़ी क्षेत्र से आना वाला पानी उनके गांव के काफी हिस्से को बहाकर ले जा सकता है। गांव वासियों ने काज-वे को हटा कर बड़े आकार की पुलिया बनाने की मांग की है। ताकि तेज बहाव पानी में कोई रुकावट पैदा न हो। गांव वासियों ने जिला प्रशासन और लोक निर्माण विभाग से इस ओर ठोस कदम उठाए जाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें