समस्या / लाखों रुपए लगाकर बनाए पार्कों की हालत खराब

The condition of parks built by applying millions of rupees worsened
X
The condition of parks built by applying millions of rupees worsened

  • पार्को में फैक्ट्रियों की ओर से फेंका जा रहा कूड़ा-कर्कट, लोग हो रहे परेशान

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

कुराली. स्थानीय नगर काउंसिल के अंतर्गत आते गांव चनालो के फोकल प्वाइंट में लोगों की सुविधा के लिए लाखों रुपये खर्च करके बनाए गए पार्क सरकार और पीएसआईईसी की बेरुखी कारण खस्ता हालत होते जा रहे है। लोगों ने शहर के फोकल प्वाइंट में बने पार्कों की खस्ता को सुधारे जाने की मांग की है। बेशक सरकार की ओर से लाखों रुपये खर्च करके इंडस्ट्रियल क्षेत्र के विकास और सुंदर बनाने के दाबे किए जा रहे है। लेेकिन स्थानीय शहर के अंतर्गत आते फोकल प्वाइंट में आधी दर्जन से ज्यादा बनाए पार्कों की खस्ता हालत सरकार और पीएसआईईसी की फोकल प्वाइंट में सुविधाओं की पोल खोल रहे है।

सरकार और पीएसआईईसी द्वारा फोकल प्वाइंट में लाखों रुपए खर्च करके इंडस्ट्रियल क्षेत्र को सुंदर बनाने के लिए आधी दर्जन से ज्यादा पार्क बनाए गए है ताकि फैक्ट्रियों में काम करने वाली लेबर और उनके परिवारों के बच्चे खेल सके तथा फोकल प्वाइंट में आने वाले लोग इन पार्कों में आराम कर सके। लेकिन अब लोगों की सुविधाओं के लिए बनाए ये पार्क पीएसआईईसी की बेरुखी कारण उजाड़ बन गए है और इनकी हालत खस्ता हो चुकी है।

फोकल प्वाइंट में सडकों के किनारे उगी झाडियाें में घिरे पार्क अपने दुदर्शा को ब्यान करते हुए अपने विकास का इंतजार कर रहे है। पार्को की अनदेखी कारण इनमें लगाए गए फूलों के पौधे और वृक्ष सूख चुके है। जबकि पार्को के अंदर रोशनी का प्रबंध करने के लिए लगाए खंभों पर लाइटें नहीं रही और पार्को में केवल खंभे ही रह गए है। इस संबंधी संपर्क करने पर पीएसआईईसी के एसडीओ गुरबचन सिंह ने बताया कि कोरोना वायरस की महामारी कारण लगे कर्फ्यूू और लेबर की कमी कारण ये समस्या पैदा हुई है। उन्होंने जल्दी ही फोकल प्वाॅइंट में बने पार्कों की हालत सुधारे जाने का भरोसा दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना