पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संक्रमण से राहत:कोरोना से एक दिन में 12 मरीजों की गई जान, 847 की रिपोर्ट आई पॉजिटिव; 889 मरीजों ने कोरोना को दी मात

मोहाली9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोविड से मरने वालों की संख्या 634 पहुंची
  • कुल संक्रमित 49932 और ठीक हुए 40636

जिले में मंगलवार को कोरोना से फिर 12 मरीजों की एक साथ मौत हो गई। पिछले एक हफ्ते से अधिक समय से यहां अधिक मौतें हो रही हैं। अब मरने वालों की कुल संख्या 634 हो गई है। दूसरी ओर कोरोना की चपेट में आने वाले भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार को 847 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। हालांकि, 889 मरीज ठीक भी हुए हैं।

नए मरीज सामने आने से जिले में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 49932 पर पहुंच गई है। जबकि इनमें से 40636 मरीज पूरी तरह से ठीक होकर घर जा चुके हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या भी 8662 तक पहुंच गई है। इन मरीजों का इलाज स्वास्थ्य विभाग की टीमों की निगरानी में करवाया जा रहा है।

प्रशासन का दावा है कि जल्द ही ये मरीज स्वस्थ होकर घर लौटेंगे। डीसी ने बताया कि जिले में कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए सरकार की ओर से लगाई पाबंदियों को सख्ती से लागू किया जा रहा है।

मोहाली शहर में सबसे ज्यादा 308 मरीज मिले

मंगलवार को जिले में जो 847 मरीज मिले हैं, उनमें से 308 अकेले मोहाली शहर में मिले हैं। बाकी मरीज जिले के अन्य क्षेत्रों के हैं। जीरकपुर के ढकोली में 238, खरड़ से 161, घनूड़ा से 64, डेराबस्सी से 43, बूथगढ़ से 64, कुराली में 5, बनूड़ में 1 और लालड़ू में भी 1 संक्रमित मरीज मिला है।

गंभीर मरीजों को भर्ती करने से न करें इंकार

डीसी ने बताया कि उनकी ओर से जिले के प्राइवेट अस्पतालों से कहा है कि वे किसी भी कोरोना के गंभीर मरीज को अस्पताल में दाखिल करने से इंकार न करें। क्योंकि गंभीर मरीज को दाखिल करने से इंकार करके उसे घर वापस भेजना खतरनाक साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि अगर अस्पताल में लेवल 3 का बेड खाली नहीं है तो मरीज को उस समय तक लेवल 2 की सुविधाओं के तहत दाखिल किया जा सकता है। लेकिन उनको वापस न भेजा जाए।

एंट्री पर दिखानी होगी नेगेटिव रिपोर्ट

डीसी गिरीश दयालन ने बताया कि कोरोना के बढ़ते फैलाव को देखते हुए आदेश जारी किए गए हैं जिसमें बताया गया है कि अगर कोई व्यक्ति किसी बाहरी राज्य से पंजाब में प्रवेश करता है तो उसे कम से कम तीन दिन पुरानी कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी होगी। या फिर कोरोना वैक्सीनेशन का सर्टिफिकेट दिखाना होगा, उसके बाद ही उसे जिले में प्रवेश करने दिया जाएगा।

5 से 10 बेडेड कोविड केयर सेंटर बनाने की पेशकश

डीसी ने बताया कि लोगों की ओर से संकट की घड़ी में मदद के लिए कई हाथ आगे बढ़ाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे लोगों की इस दरियादिली से काफी प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि लोगों की ओर से प्रशासन को पेशकश देते हुए 5 से 10 कोविड बेड स्थापित करने के लिए कहा जा रहा है।

लेकिन 50 बेड से कम कोविड केयर सेंटर स्थापित करना मुश्किल है क्योंकि उसे चलाने के लिए मेडिकल स्टाफ समेत डॉक्टर्स की जरूरत है। इस संकट की घड़ी में पहले ही मेडिकल स्टाफ की कमी हाे रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें