पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना का कहर:450 कोरोना मरीज हुए ठीक, 182 की रिपोर्ट आई पॉजिटिव, 7 की मौत

मोहाली22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 66 हजार 406 हुई, एक्टिव मामले 3141

कोरोना को लेकर कम हो रहे मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन की तरफ से जिले में जो विगत सप्ताह 28 कंटेनमेंट जोन बनाए गए थे उन्हें कम करके अब 5 कर दिया गया है। लेकिन सिविल सर्जन की तरफ से लोगों से अपील की गई है कि चाहे अब केस कम होने लगें लेकिन लोगों को अभी भी सावधानी बरतने जरूरत है। क्योंकि इस समय में बरती गई लापरवाही दोबारा से इस महामारी को सक्रिय करने में मदद कर सकती है।

रविवार को डीसी ऑफिस की तरफ से जारी किए गए कोविड-19 के आंकड़ों के अनुसार जिले में 182 कोविड-19 के पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं। इसके अलावा 450 मरीज ठीक भी हुए हैं, जबकि 7 मरीजों की इस महामारी के चलते मौत हो गई। डीसी मोहाली ने बताया कि नए मरीज सामने आने के बाद जिले में अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 66 हजार 406 पहुंच गई है।

जबकि अब तक इस महामारी को हराकर पूरी तरह ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 63 हजार 311 पहुंच गई है। डीसी ने बताया कि जिले में अब तक कोविड-19 के चलते 954 मरीजों की मौत हो चुकी है। जिले में 3141 मरीज ऐसे हैं जो एक्टिव हैं और उनका इलाज स्वास्थ्य विभाग की टीमों की निगरानी में करवाया जा रहा है।

जिस प्रकार कोविड-19 महामारी को लेकर पॉजिटिव मामलों में गिरावट आई है उसी प्रकार अब जिले में जिला प्रशासन की तरफ से बनाए गए कंटेनमेंट जोन भी कम हुए हैं। विगत सप्ताह जिले में जो 28 कंटेनमेंट जोन थे अब उसमें से केवल 5 ही रह गए हैं, जबकि बाकी के एरिया को खोल दिया गया है।

फिलहाल जिले में गुलमोहर सिटी डेराबस्सी, गुलाब गढ़ रोड डेराबस्सी, गांव सैदपुर डेराबस्सी, प्रीत कॉलोनी जीरकपुर और गांव कुरड़ी कंटेनमेंट जोन बनाया हुआ है। डीसी की तरफ से निर्देश दिए गए हैं कि इस एरिया में बिना किसी जरूरी काम से किसी को भी आने-जाने न दिया जाए और सिविल सर्जन को भी निर्देश दिए हैं कि इस एरिया के लोगों की रेगुलर टेस्टिंग की जाए और साथ ही यहां पर मौजूद पॉजिटिव व्यक्तियों के स्वास्थ्य की लगातार निगरानी की जाए। पुलिस प्रशासन को भी निर्देश देते हुए कहा गया कि इस एरिया में बिना वजह से आने-जाने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

पॉजिटिव केस कम हुए, पर सावधान रहने की जरूरत

सिविल सर्जन मोहाली डॉ. आदर्शपाल कौर ने कहा कि इस जानलेवा बीमारी का खतरा अब भी बना हुआ है। हालांकि कोविड की दूसरी लहर ऊपर से नीचे आ रही है और पॉजिटिव मामलों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है, फिर भी सभी को पहले की तरह सावधानी बरतने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि जैसा कि हेल्थ एक्सपोर्ट ने तीसरी लहर के आने की भविष्यवाणी की है और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। इस बीमारी से बचाव के लिए मास्क पहनना बेहद जरूरी है। अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें और एक दूसरे से 2 गज की आवश्यक दूरी बनाकर रखें। अपने हाथों को बार-बार साबुन और पानी से धोना भी महत्वपूर्ण है।

104 हेल्पलाइन पर ले सकते हैं डॉक्टर्स की सलाह

सिविल सर्जन ने कहा कि बीमारी फैलने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सक्रिय है, लेकिन लोगों के सहयोग के बिना इस बीमारी पर काबू पाना संभव नहीं है। लोगों को सरकार के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करना चाहिए। कोई गंभीर समस्या होने पर अस्पताल जा सकते हैं। इसके बजाय डॉक्टर की सलाह के लिए स्वास्थ्य विभाग की हेल्पलाइन 104 पर कॉल कर सिते हैंं।

लापरवाही बरती तो दोबारा सक्रिय होगी महामारी

डॉ. आदर्शपाल कौर ने कहा कि कर्फ्यू हटने या ढील देने का मतलब यह नहीं है कि बीमारी खत्म हो गई है। अगर हम थोड़ी सी भी लापरवाही या असावधानी बरतते हैं, तो बीमारी फिर से बढ़ सकती है। उन्होंने कहा कि जो काम मोबाइल या कंप्यूटर पर ऑनलाइन किया जा सकता है जिसके लिए बाजार जाने की जरूरत नहीं है।

दुकानों पर ग्राहकों की भीड़ न लगे और हर हाल में सामाजिक दूरी का पालन किया जाए। दुकान में प्रवेश करते और छोड़ते समय भी हाथ सैनिटाइज करना चाहिए।

खबरें और भी हैं...