नगर निगम चुनाव:अगले हफ्ते सभी नए पार्षदों को दिलाई जाएगी शपथ, उसके बाद तय होगा मेयर

मोहाली9 महीने पहलेलेखक: मनोज जोशी
  • कॉपी लिंक
  • मेयर, सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के लिए बैठकों का दौर शुरू
  • कांग्रेस के 37 पार्षदों में से 5 सीनियर पार्षदों का नाम सबसे आगे

नगर निगम चुनाव हुए महीना गुजरने को है उसके बावजूद अभी तक मेयर बनाने को लेकर सरकार की ओर से नोटिफिकेशन जारी नहीं की गई। जिसका मुख्य कारण पूरे पंजाब के मेयर के पदों को रिजर्व करने से संबंधित फैसला होना बताया जा रहा है।

सूत्रों की मानें तो सरकार सोमवार को इससे संबंधित नोटिफिकेशन जारी कर सकती है और अगले हफ्ते सभी पार्षदों को शपथ दिलाने के साथ मेयर के पद का भी चयन किया जा सकता है। शहर में कुल 50 वार्डों में से 37 वार्डों में कांग्रेस के उम्मीदवार विजयी हुए हैं। इसलिए बहुमत कांग्रेस के पास है। किसे मेयर बनाया जाएगा और किसे सीनियर डिप्टी मेयर इसके लिए रविवार को भी एक मीटिंग की गई।

जिसमें कांग्रेस के सभी पार्षद शामिल हुए। कांग्रेस के पास 37 पार्षद हैं। 50 वार्डों वाले नगर निगम में किसी को अपना मेयर बनाने के लिए 26 पार्षदों का समर्थन होना जरूरी है। जबकि कांग्रेस के पास 11 पार्षदों का अतिरिक्त समर्थन है। ऐसे में मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू के भाई अमरजीत सिंह सिद्धू उर्फ जीती सिद्धू को मेयर बनाया जाना पूरी तरह से तय है।

सूत्रों की मानें तो इस पद को रिजर्व किए जाने की अटकलें भी चल रही हैं। अगर यह पद जनरल रिजर्व किया जाता है तो लगातार 4 बार की पार्षद एवं पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर ऋषभ जैन की पत्नी राजरानी जैन को भी यह पद मिल सकता है। लेकिन संभावना यह है कि मंत्री के भाई के मेयर पद का दावेदार होना और पूर्ण बहुमत होने के चलते यहां पर कोई भी रिजर्वेशन नहीं होगी।

बेदी, जैन और सोमल का नाम सबसे आगे: मेयर पद के बाद अन्य पद सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के पदों को लेकर भी कांग्रेसी पार्षदों में चर्चा चल रही है। जिसको लेकर सबसे आगे सीनियर डिप्टी मेयर के पद को लेकर वार्डबंदी कमेटी के सदस्य कुलजीत सिंह बेदी का नाम आगे चल रहा है।

इसके साथ ही पूर्व सीनियर डिप्टी मेयर ऋषभ जैन और पूर्व मेयर कुलवंत सिंह को हराने वाले प्रो. अमरीक सिंह सोमल का नाम भी शामिल है। तीनों पार्षद लगातार 3 बार जीतकर नगर निगम आ रहे हैं। इन तीनों में से ही सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर का पद दिया जा सकता है।

रिजर्वेशन और नोटिफिकेशन ने अटकाया काम...

पिछले 1 महीने से चुनाव होने के बावजूद मेयर के पद का चयन नहीं हो सका है। इसको लेकर नगर निगम कमिश्नर डॉ कमल कुमार गर्ग ने बताया कि सरकार की ओर से पार्षदों और रिजर्वेशन से संबंधित नोटिफिकेशन की जानी है। इस नोटिफिकेशन के बाद ही पूरी प्रक्रिया शुरू होती है। नोटिफिकेशन होने के बाद जोनल कमिश्नर सभी पार्षदों को गोपनीयता की शपथ दिलाते हैं।

उसी दिन मेयर और सीनियर डिप्टी मेयर व डिप्टी मेयर का चयन कर दिया जाता है। लोकल बॉडीज विभाग के सूत्रों की मानें तो सोमवार को नोटिफिकेशन हो सकती है और आने वाले तीनों में सभी पदों का चयन किए जाने का रास्ता साफ हो जाएगा और शहर को इस हफ्ते नया मेयर मिल सकता है।

27 महिलाएं हाउस में पहुंची हैं...

इस बार नगर निगम के 50 वार्डों में से 25 वार्ड महिलाओं के लिए रिजर्व थे। इनमें 27 महिलाएं चुनकर हाउस में पहुंची हैं। वार्डबंदी होने के बावजूद कई महिलाएं जर्नल एरिया में भी खड़ी हुई थीं। सीनियर डिप्टी मेयर और डिप्टी मेयर के पद को लेकर भी किसी महिला का चयन किया जा सकता है। इस चयन में भी एक बार फिर लगातार 4 बार की पार्षद राजरानी जैन की लॉटरी लग सकती है और उनका नाम 3 पदों में से किसी के लिए आगे आ सकता है।

रिजर्वेशन के कारण मचा हड़कंप...
कुलवंत सिंह के आजाद गुट के पार्षद सुखदेव सिंह पटवारी ने कहा कि नोटिफिकेशन करने में देरी इसलिए की जा रही है क्योंकि उस नोटिफिकेशन में मेयर और अध्यक्षों के वार्ड को रिजर्व किया जाना है। अकाली नेता कमलजीत सिंह रूबी ने कहा कि सरकार नोटिफिकेशन में इसलिए देरी कर रही है ताकि वे उन स्थानों पर अपने पक्ष में जोड़-तोड़ कर सके जहां पर उनका प्रधान या मेयर नहीं बनता है। जोड़-तोड़ के लिए 1 महीने का समय दिया हुआ है।

काग्रेसी पार्षदों ने की मीटिंग...
सरकार की ओर से नोटिफिकेशन जारी करने की चर्चाएं जोरों पर हैं। इन्हीं चर्चाओं के बीच शहर के सभी कांग्रेसी पार्षदों की एक मीटिंग का आयोजन किया गया। जिसमें पूरे घटनाक्रम को लेकर विचार विमर्श हुआ। यह मीटिंग लाडला चुन्नी रोड पर स्थित एक मैरिज पैलेस में की गई। इस बैठक के दौरान सभी पार्षदों के विचार जाने गए। यहां मुहर लगाई गई कि सभी का अमरजीत सिंह जीती सिद्धू को मेयर बनाने के लिए पूर्ण समर्थन है। मीटिंग को लेकर कांग्रेसी पार्षदों में उत्साह दिखा।

खबरें और भी हैं...