पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आक्रोश:गांव दाऊ साहब को रास्ता न देने पर गुस्से में आए लोग

मोहाली8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लोगाें ने कहा-कोई भी राजनेता गांव में वोट मांगने न आए

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) द्वारा बनाए जा रहे चंडीगढ़-खरड़ एलिवेटेड ब्रिज रोड निर्माण में गांव दाऊ साहेब को रास्ता न दिए जाने को लेकर डेरा बाबा खड़क सिंह के दर्जनों गांवों, कॉलोनियों, सामाजिक संगठनों और भक्तों ने प्रशासन, राजनीतिक और राजनीतिक नेताओं द्वारा निर्धारित समय के भीतर सड़क से रास्ता न देने के कारण पुल के काम को रोकने के लिए पिछले साल 10 अक्टूबर को एक विरोध प्रदर्शन किया।

उस समय, प्रशासन ने 15 दिनों के भीतर इस मुद्दे को हल करने का वादा किया था, लेकिन अब प्रशासन निवासियों की मांगों पर ध्यान नहीं दे रहा है। दाऊ साहेब को रास्ता न दिए जाने को लेकर गुस्साए लोगों ने कहा कि अगर दाऊ साहब को रास्ता नहीं दिया गया तो लोगों में बहुत भारी रोष होगा। उन्होंने कहा कि उसके बाद अगर कोई भी राजनेता गांव में वोट मांगने के लिए आया तो उसे गांव में एंटर तक नहीं करने दिया जाएगा।

इसके अलावा गांव के लोग सभी राजनीतिक पार्टियों का बहिष्कार करेंगे। इसको लेकर पंजाब अगेंस्ट करप्शन संस्था के अध्यक्ष सतनाम सिंगर दाऊ, करतार सिंह सराभा क्लब के सदस्य गोल्डी, परमिंद्र सिंह, अमित वर्मा ने कहा कि इन गांवों के लोगों को जिला प्रशासन द्वारा घर-घर भेजकर और झूठे मामलों के साथ लोगों को परेशान करके जिला प्रशासन द्वारा धमकाया जा रहा है। इस धरने को भयभीत कर रोका जा रहा है। उन्होंने कहा कि वही प्रशासन और स्थानीय नेता बलबीर सिंह सिद्धू ने ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियों को रास्ता देने का आश्वासन दिया था और इससे पहले भी कई राजनीतिक नेताओं ने पुल से दाऊ साहब के लोगों को रास्ता देने की कोशिश की थी।

उन्होंने कहा कि अब गांव दाऊ साहब के निवासियों द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि किसी भी राजनीतिक दल के नेता को गांव में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी और इस संबंध में पोस्टर पूरे क्षेत्र में लगाए गए हैं। नेताओं के आश्वस्त वीडियो जारी करके काली दीवाली मनाने का निर्णय लिया गया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें