पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फिर गाइडलाइन में संशोधन:आज से खुलेंगे शराब के ठेके, पेस्टीसाइड और किराना शॉप्स खोलने की भी मंजूरी

मोहाली11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकार ने लगातार दूसरी बार किया गाइडलाइन में संशोधन
  • शाम 6 बजे शुरू होगा कर्फ्यू, इसलिए 5 बजे बंद करनी होंगी दुकानें, ठेके के लिए भी यही समय

सरकार की ओर से 1 से 15 मई तक के लिए कोरोना को लेकर जो गाइडलाइन जारी की गई थी, उसमें अब लगातार दूसरी बार संशोधन किया गया है। 1 मई को सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन में शराब के ठेकों का कोई जिक्र नहीं था। 3 मई को जो एडिशनल गाइडलाइन जारी की गई, उसमें शराब ठेकों और गैर जरूरी सामान की दुकानें बंद करने के निर्देश जारी किए। अब मंगलवार को गाइडलाइन में संशोधन करते हुए सरकार ने शराब ठेके खोलने की अनुमति दे दी। साथ ही पेस्टीसाइड और करियाना शॉप्स खोलने की भी अनुमति दी गई है।

संशोधित गाइडलाइन के मुताबिक पेस्टीसाइड, किरायाना शॉप्स सुबह से शाम 5 बजे तक खुलेंगी। वहीं ठेकों के लिए भी यही समय तय किया गया है। 5 बजे के बाद न तो दुकानें और न ही ठेके खुलेंगे। इसको लेकर पुलिस को कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। शाम छह बजे से कर्फ्यू शुरू होता है। इसके अलावा वीकएंड लॉकडाउन पर शनिवार-रविवार को न तो दुकानें और न ही शराब ठेके खुलेंगे।

किराना शॉप्स, मैकेनिक की दुकानें, बिजली, हार्ड वेयर की दुकानों को शाम पांच बजे तक खोलने की अनुमति तो दी गई है, लेकिन दुकानदारों को नियमों का पालन सख्ती से करना होगा। नियमों का उल्लंघन किया गया तो इन पर कार्रवाई होगी।

आहता नहीं खुलेगा

सरकार की ओर से जारी की गाइडलाइन के अनुसार शाम 5 बजे तक शराब के ठेके खोलने के निर्देश दे दिए हैं लेकिन आहता नहीं खुल सकेगा। किसी को भी आहता में बैठकर शराब पीने की अनुमति नहीं दी जाएगी। भले ही शराब के ठेके खोलने के निर्देश दिए गए हैं लेकिन गाइडलाइंस का पालन करना होगा।

साइकिल पर कहीं भी बिना पाबंदी आ-जा सकते हैं

नाइट कर्फ्यू और वीकएंड लॉकडाउन के दौरान साइकिल पर आने-जाने पर किसी प्रकार की कोई पाबंदी नहीं है। हालांकि, प्राइवेट सेक्टर्स के कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम के निर्देश दिए हैं और सरकारी ऑफिसेज में 50 फीसदी कर्मचारियों के साथ काम करने के निर्देश हैं। लेकिन जो बीपीओ के कर्मचारी हैं वे कर्फ्यू पास के साथ के साथ काम पर आ-जा सकते हैं। लेकिन साइकिल सवारों को आने-जाने पर कोई पाबंदी नहीं है और ना ही उन्हें किसी कर्फ्यू पास की जरूरत है।

चेकिंग }पुलिस नाके पर हर व्यक्ति को रोककर पूछ रही शहर में आने का कारण

कोराेना काे लेकर शहर में बढ़ाई गई पाबंदियों को लेकर पुलिस की ओर से सख्ती बढ़ाई जा रही है। शहर में सड़कों पर पुलिस की ओर से जहां जगह-जगह नाकाबंदी की गई थी। वहीं पुलिस की ओर से मुख्य सड़कों पर निगरानी के लिए पक्के तौर पर टेंट लगाकर टेंपरेरी पोस्ट बना दी गई हैं। वहां पर पुलिस पूरा दिन बैठती है और सड़क पर चलने वाले वाहन चालकों की चेकिंग करती है।

पुलिस नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारियाें की ओर से बाहर के राज्यों से आने वाले वाहन चालकों पर फाेकस किया जाता है। पुलिस की ओर से बाहरी राज्यों के वाहनों को रोक कर उनका शहर में आने का कारण पूछा जाता हैै। वहीं, पुलिस की ओर से सरकार के निर्देशों पर शहर में प्रवेश होने से पहले कोविड टेस्ट रिपोर्ट या फिर कोरोना वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के बारे में भी पूछा जाता है।

व्यापारी बोले- बार-बार संशोधन करने के बजाय सरकार ऑड ईवन फॉर्मूला करे लागू

व्यापारियों का कहना है कि सरकार जिस प्रकार से हर रोज नई गाइडलाइन जारी कर रही है, उसका कोई फायदा नहीं है। इससे अच्छा तो सरकार ईवन-ऑड फॉर्मूला अपनाना चाहिए। इसके तहत मार्केट्स में भीड़ को कम किया जा सकता है और व्यापारियों को भी राह मिलेगी। पूरी मार्केट्स में सन्नाटा है। मॉल आदी भी बंद हैं। चौक-चौराहों पर पुलिस का पहरा है।

बाहरी नंबर की गाड़ियों को चेक किया जा रहा है और उनसे शहर में आने का कारण भी पूछा जा रहा है। व्यापार मंडल के महासचिव सरबजीत सिंह पारस ने कहा कि इस संकट की घड़ी में सरकार काे व्यापारियों के साथ खड़ा होना चाहिए। उन्होंने कहा कि व्यापारी पहले से ही मंदी की मार झेल रहे हैं और बहुत से दुकानदारों के तो काम-काज पूरी तरह से ठप हो चुके हैं।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से सरकार रोज नई गाइडलाइन जारी कर रही है। उससे अच्छा सरकार को ईवन-ऑड का फॉर्मूला अपनाते हए मार्केट में अप्लाई करना चाहिए ताकि दुकानदार कुछ तो काम कर सकें। ऐसे में मार्केट में रश कंट्रोल किया जा सकेगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें