पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

व्यापारियों को राहत:सोमवार से अब ऑड-ईवन सिस्टम से खुलेंगी दुकानें; प्राइवेट ऑफिस 33 फीसदी स्टाफ के साथ खुलेंगे

मोहालीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दुकानें खोलने के मसले पर अफसरों के साथ बैैठक करते डीसी।  - Dainik Bhaskar
दुकानें खोलने के मसले पर अफसरों के साथ बैैठक करते डीसी। 
  • वीकएंड लॉकडाउन जारी रहेगा
  • सुबह 5 से शाम 5 बजे तक खोल सकेंगे दुकानें

सरकार ने व्यापारियों को राहत देते हुए दुकानें ऑड-ईवन सिस्टम से खोलने की अनुमति दे दी है। अब सोमवार से व्यापारी इस सिस्टम से अपनी दुकानें खोल पाएंगे। सोमवार से शुक्रवार तक यह सिस्टम लागू रहेगा जबकि शनिवार-रविवार को जिले में पूर्ण लॉकडाउन रहेगा। दुकानें सुबह 5 से शाम 5 बजे तक खोली जा सकेंगी।

इसके साथ ही सरकार ने प्राइवेट दफ्तरों को 33% स्टाफ के साथ खोलने की अनुमति भी दी है। खाने-पीने के सामान की दुकानों पर रात 9 बजे तक होम डिलिवरी और टेक-अवे हो सकेगी। लेकिन हाेटल-रेस्टाेरेंट में बैठाकर खाना खिलाने की अनुमति नहीं होगी।

व्यापारियों ने दुकानें खोलने की मांग को लेकर डीसी को ज्ञापन सौंपा था। इस पर शुक्रवार को प्रशासन की ओर से मीटिंग बुलाई गई। मीटिंग में ऑड-ईवन सिस्टम से दुकानें खोलने की मांग उठने के बाद डीसी ने प्रस्ताव सरकार को भेजा दिया। डीसी ने कहा कि व्यापारी वर्ग समाज का एक बड़ा हिस्सा है और वे महामारी से लड़ने में जिला प्रशासन का पूरा साथ दे रहा है।

प्रशासन का भी फर्ज बनता है कि व्यापारी वर्ग को आ रही समस्याओं पर ध्यान देकर उसका हल निकालने का प्रयास करे। प्रस्ताव के माध्यम से जिले के प्राइवेट दफ्तरों को भी 33 फीसदी स्टाफ के साथ अनुमति देने की मांग भी की गई है।

सुबह मीटिंग के बाद भेजे गए प्रस्ताव पर शाम को मुख्यमंत्री ने ऑड-ईवन सिस्टम से दुकानें खोलने की मंजूरी प्रदान कर दी। डीसी ने कहा कि सरकार की तरफ से जो भी पाबंदियां लगाई गई हैं वे लोगों की सुरक्षा के लिए हैं। हर व्यापारी इसका पालन करेगा।

रेहड़ी फड़ी वालों की भी टेस्टिंग-वैक्सीनेशन जरूरी

कोरोना काल में असेंशियल सर्विसेज मुहैया करवाने वाले रेहड़ी फड़ी वाले जोकि फल-सब्जी बेचते हैं, उनकी टेस्टिंग-वैक्सीनेशन करवाना भी जरूरी है। इसके प्रयास भी किए जा रहे हैं। मौजूदा हालात को देखते हुए अगले हफ्ते में इसको लेकर फैसला किया जाएगा। रेहड़ी फड़ी वाले अनेक लोगों के संपर्क में रोजाना आते हैं इसलिए इनके टेस्ट करवाना ज्यादा जरूरी है।

मीटिंग में जिला प्रशासन को व्यापारी वर्ग की तरफ से हर प्रकार के सहयोग का आश्वासन दिया गया। मीटिंग में एडीसी आशिका जैन, एडिशनल डिप्टी कमिश्नर जनरल राजीव कुमार, एडिशनल कमिश्नर तरसेम चंद, एसडीएम मोहाली जगदीप सहगल, एसडीएम खरड़ हिमांशु जैन, एसडीएम डेराबस्सी कुलदीप बावा, व्यापार मंडल अध्यक्ष विनीत वर्मा मौजूद रहे।

व्यापारियों ने कहा था या तो पूर्ण लॉकडाउन लगाओ या दुकानें खोलने की अनुमति मिले

व्यापार मंडल मोहाली के अध्यक्ष विनीत वर्मा, महासचिव सरबजीत सिंह पारस और अन्य सदस्यों की तरफ से सरकार के नाम ज्ञापन भेजा गया था। इसमें कहा था कि आधी-अधूरी पाबंदियाें के कारण कोई भी असर देखने को नहीं मिल रहा है। ऐसी पाबंदियों के चलते शहर की मार्केट में तो सन्नाटा देखने को मिलता है लेकिन सड़कों पर आवाजाही उसी प्रकार से चलती नजर आती है।

ऐसे में लॉकडाउन का कोई भी असर देखने को नहीं मिल रहा। इससे व्यापारी वर्ग को ज्यादा नुकसान हो रहा है। ऐसे में व्यापारियों ने मांग करते हुए कहा था कि सरकार या तो पूरी तरह से पूर्ण लॉकडाउन लगा दे या फिर व्यापारी वर्ग को भी दुकानें खोलने की आज्ञा दें, ताकि व्यापारी वर्ग आर्थिक मंदी के बोझ के नीचे न दब सके।

खबरें और भी हैं...