अच्छी पहल / लॉकडाउन में नहीं हुई पार्कों की सफाई, बच्चों ने पॉकेट मनी के पैसे से पार्क को साफ करवाकर लगाए पौधे

Parks not cleaned in lockdown, children cleaned the park with pocket money and planted saplings
X
Parks not cleaned in lockdown, children cleaned the park with pocket money and planted saplings

  • पार्क में 55 फूल और छायादार पौधे लगाए ताकि साफ और स्वच्छ बना कर पर्यावरण की संभाल की जाए

दैनिक भास्कर

Jun 01, 2020, 05:00 AM IST

मोहाली. लॉकडाउन के दौरान सभी लोग अपने-अपने घरों में बंद थे। बच्चों को भी कहीं बाहर जाने का मौका नहीं मिला। इसके चलते बच्चों की ओर से अपने पेरेंट्स से जो पॉकेट मनी ली गई उन्होंने उसे खर्च नहीं किया। जिसके बाद बच्चों की ओर से अपनी-अपनी पॉकेट मनी इक्ठ्‌ठा करके अपने एरिया के पार्क को मैनटेन किया। पहले तो सारे पार्क की सफाई करवाई गई और उसके बाद पार्क में करीब 55 फूल और छायादार पौधे लगाए गए।

ताकि पार्क में साफ और स्वच्छ बना कर पर्यावरण की संभाल की जाए। इस बारे में जानकारी देते हुए एचएल/एचएम हाउसिस वेलफेयर एसोसिएशन फेज-2  के अध्यक्ष प्रदीप कुमार नवाब ने बताया कि बच्चों की ओर से अपनी पॉकेट मनी इक्ठ्ठी करके पार्क को मैनटेन करने के लिए दी गई थी। जिसके बाद उन पैसों में अपनी तरफ से और पैसे मिला कर पार्क को मैनटेन करने का काम किया गया।
ओपन एयर जिम के आस-पास बनाई फूलों की कैरी : एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रदीप कुमार ने बताया कि बच्चों की ओर से पार्क को सुंदर बनाने का बिड़ा उठाया गया था। जिसके बाद बच्चों ने खुद अपने एरिया के पार्क नंबर 31 में अपने हाथों से मेहनत करते हुए फूलाें के पौधे लगाए। उन्होंने बताया कि बच्चों की ओर से पार्क में लगाए गए ओपन एयर जिम के आस-पास कैरी बनाई गई। जिसमें सुंदर पौधे लगाए गए। प्रदीप कुमार ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान 22 मई को उनकी माता का देहांत हो गया था। जिसके बाद उन्होंने अपनी माता की याद में सबसे पहले उनकी चिता के राख के साथ शमशाम में ही एक पौधा लगाया था।

उसके बाद वहां से ही प्रेरणा लेते हुए उन्होंने अपने एरिया के पार्क में भी पौधे लगाने का काम किया गया और पर्यावरण काे बढ़ाने और साफ व स्वच्छ रखने का प्रयास किया गया है। इसके अलावा एरिया के बच्चों ने भी इस मुहिम में उनका पुरा साथ दिया। लॉकडाउन के समय के दौरान पार्कों की साफ सफाई नहीं हुई थी। उस दौरान नगर निगम के कर्मचारी तो काम कर रहे थे, लेकिन उन्हें भी सड़कों पर ही काम करने के लिए लगाया गया था। क्योंकि पार्कों को इस्तेमाल करने पर मनाही की गई थी। इसलिए पार्कों में साफ-सफाई का काम भी नहीं करवाया गया था ताकि लोग पार्कों को इस्तेमाल ना करें।

शहर के पार्कों तथा फुटपाथों की हालत खस्ता 

इस समय शहर के सभी पार्कों तथा फुटपाथों की हालत काफी खस्ता है। आलम यह है कि पार्कों में लंबी-लंबी घास उग चुकी है और सड़क किनारे फुटपाथाें पर भी झाड़ियां ऊगी हुई है। जिस कारण लोगों का फुटपाथाें पर चलना तक मुशकिल हो गया है। लॉकडाउन के चलते नगर निगम कर्मचारियों की ओर से शहर के पार्कों तथा फुटपाथाें पर घास की कटाई का काम नहीं किया गया जिसके चलते अब दो महीने गुजरने के बाद पार्कों और फुटपाथों पर घास काफी बड़ी हो चुकी है। यहीं कारण है कि अब लोगों की ओर से खुद अपने-अपने एरिया पार्कों को मैनटेन करने की शुरूआत करवाई गइ है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना