पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घर लौटे श्रद्धालुओं को कोरोना:नांदेड़ साहिब से पंजाब लौटे 11 श्रद्धालुओं में संक्रमण मिलने से हड़कंप

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
श्रद्धालुओं और राजस्थान से आने वाले विद्यार्थियों को सरहद पर ही रोक कर सरकारी एकांतवास केंद्रों में भेजा। - Dainik Bhaskar
श्रद्धालुओं और राजस्थान से आने वाले विद्यार्थियों को सरहद पर ही रोक कर सरकारी एकांतवास केंद्रों में भेजा।
  • अन्य राज्याें से पंजाब लाैटने पर 21 दिन सरहद पर ही एकांतवास करना हाेगा
  • 3500 श्रद्धालु गुरुद्वारा तखत सचखंड अबचल नगर हजूर साहिब में फंस गए थे

महाराष्ट्र से पंजाब के तरनतारन और कपूरथला पहुंचे श्रद्धालुओं में कोरोना पॉजिटिव मिलने से हड़कंप मच गया है। करीब 3500 श्रद्धालु महाराष्ट्र के नांदेड़ स्थित गुरुद्वारा तखत सचखंड अबचल नगर हजूर साहिब गए थे। लॉकडाउन के कारण ये वहीं फंस गए थे। इन्हें केंद्र और पंजाब सरकार के प्रयासों से लाने की व्यवस्था हुई। करीब 260 श्रद्धालु पंजाब से भेजी गई बसों से पंजाब लौट रहे थे। सफर के बीच रास्ते में लाडनूं और अजमेर में रुके। सबने लाडनूं में 26 अप्रैल को विधायक मुकेश भाकर के घर पर भोजन किया। पंजाब पहुंचने पर इनकी जांच की गई। मंगलवार सुबह इनमें से 11 के कोरोना पॉजिटिव हाेने की सूचना मिलते ही प्रशासन सक्रिय हो गया। इनमें से तरनतारन में 8 और कपूरथला में 3 व्यक्ति संक्रमित पाए गए हैं। नांदेड़ से रवाना करते समय इनकी स्क्रीनिंग की गई थी, लेकिन तब इनमें काेई संकेत नहीं मिले थे। 
लाडनूं में भोजन कराने वाले 20 कार्यकर्ता क्वारेंटाइन 

इन श्रद्धालुओं का पहला जत्था रविवार सुबह पंजाब पहुंचा, जहां मेडिकल जांच की गई और सैम्पल भेजे गए। सोमवार को 11 लाेगाें की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह सूचना मिलते ही इन्हें भाेजन करवाने वाले 20 कार्यकर्ताओं के सैंपल लिए गए हैं। वहीं श्रद्धालुओं से मुलाकात करने वाले लाडनूं विधायक मुकेश भाकर ने काेराेना जांच करवाई, जाे निगेटिव आई है।

सरहद पर ही राेक कर एकांतवास केंद्राें में भेजा जाएगा 

इस घटनाक्रम के बाद पंजाब सरकार ने दूसरे राज्यों से भारी संख्या में पहुंच रहे पंजाब के लोगों को लौटने पर 21 दिन का एकांतवास जरूरी कर दिया है। पंजाब के मुख्यमंत्री ने आदेश दिया कि नांदेड़ साहिब से आने वाले श्रद्धालुओं और राजस्थान से आने वाले विद्यार्थियों व मजदूराें को सरहद पर ही रोक कर सरकारी एकांतवास केंद्रों में भेजा जाएगा।

खबरें और भी हैं...