• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • 12 Buses For Public Will Run On The Route From Sector 43 To PGI; CTU Will Get 40 Buses By December 15

13 से इलेक्ट्रिक बसें चलेंगी:पब्लिक के लिए 12 बसें सेक्टर-43 से पीजीआई के रूट पर दौड़ेंगी; 15 दिसंबर तक 40 बसें सीटीयू को मिलेंगी

चंडीगढ़21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासन किमी. बेस पर चलाएगा 40 बसें, 10 साल के लिए ये बसें कॉन्ट्रैक्ट पर हायर की जाएंगी। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
प्रशासन किमी. बेस पर चलाएगा 40 बसें, 10 साल के लिए ये बसें कॉन्ट्रैक्ट पर हायर की जाएंगी। -फाइल फोटो

शहर की सड़कों पर 13 नवंबर से इलेक्ट्रिक बसें चलनी शुरू हो जाएंगी। शुरू में 12 बसें सेक्टर-43 से पीजीआई के रूट पर चलेंगी। चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) ने यह रूट फाइनल कर दिया है। यह बसें 10-15 मिनट की फ्रीक्वेंसी पर चलेंगी। चंडीगढ़ के प्रशासक बनवारी लाल पुरोहित इन बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

केंद्र सरकार की ‘फास्टर अडॉप्शन एंड मैन्यूफैक्चरिंग ऑफ हाइब्रिड एंड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (फेम) इंडिया’ स्कीम के तहत कुल 80 बसें चलनी हैं, जिनमें से 40 बसें 15 दिसंबर तक चंडीगढ़ को मिल जाएंगी। दूसरी तरफ चंडीगढ़ प्रशासन ने 40 और इलेक्ट्रिक बसों को हायर करने का प्रोसेस भी शुरू कर दिया है। इनको अगले 10 वर्षों के लिए हायर किया जाएगा। प्रशासन इन बसों को खरीदेगा नहीं बल्कि कंपनी या प्राइवेट कॉन्ट्रैक्टर के साथ किलोमीटर बेस रेवेन्यू शेयरिंग पर लेगा।

इलेक्ट्रिक बसें इसलिए जरूरी: 5 साल में 30% तक कम करना है एयर पॉल्यूशन
अभी सीटीयू के पास जितनी बसें हैं वो सभी डीजल पर चलती हैं। चंडीगढ़ में भी एयर पाॅल्यूशन की समस्या बढ़ी है जिसको कम करने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से ही टारगेट तय किया गया है और एक क्लीन एयर एक्शन प्लान तैयार किया गया है। इस प्लान के हिसाब से प्राइवेट और गवर्नमेंट व्हीकल्स को इलेक्ट्रिक में शिफ्ट किया जाना है।

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए बनाई जा रही पाॅलिसी में भी इसी तरह के प्रावधान किए गए हैं। चंडीगढ़ में एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 100 प्वाइंट या इससे ज्यादा ही रहता है। खासतौर से सर्दियों में एयर पाॅल्यूशन तय मानकों से कहीं ज्यादा हो जाता है। इसलिए एयर पाॅल्यूशन को अगले पांच वर्षों में 25-30 फीसदी तक कम करने का टारगेट तय किया गया है जिसके लिए सीटीयू की बसों को भी फेज़वाइज इलेक्ट्रिक में शिफ्ट किया जाना है।

इलेक्ट्रिक बसों के लिए
एक्सप्रेस रूट:
सेक्टर-43 से ये इलेक्ट्रिक बसें पहले सेक्टर-17 के बस अड्डे पर पहुंचेंगी और फिर पीजीआई। पीजीआई से फिर सेक्टर-17 होते हुए सेक्टर-43 आएंगी।
किराया: पहले 5 किलोमीटर तक 15 रुपए और 5-10 किलोमीटर के लिए 25 रुपए। हालांकि किराया घटाने या बढ़ाने को लेकर दोबारा फैसला हो सकता है।

35 सीटें हैं एक बस में (मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट हर सीट पर) 350 सीटीयू बसें इलेक्ट्रिक में शिफ्ट करने की तैयारी

अगले हफ्ते तक मिल जाएंगी 12 बसें
चंडीगढ़ को केंद्र सरकार की फेम इंडिया स्कीम के तहत कुल 80 इलेक्ट्रिक बसें मिली हैं। इनमें से 40 बसों की खरीद का प्रोसेस पूरा हो चुका है। इसमें से 12 बसें सीटीयू को अगले हफ्ते तक मिल जाएंगी जबकि बाकी की बसें 15 दिसंबर तक कंपनी की तरफ से भेजी जाएंगी। इसके बाद 40 और बसों को किलोमीटर बेस पर रेवेन्यू शेयरिंग में अगले 10 वर्षों के लिए हायर किया जा रहा है। ये सभी बसें लोकल एरिया यानि ट्राईसिटी के रूट पर चलेंगी। इन बसों पर चंडीगढ़ प्रशासन की तरफ से कोई खर्च नहीं किया जाएगा बल्कि प्राइवेट कंपनी की तरफ से ये बसें प्रोवाइड करवाई जाएंगी जिनको रेवेन्यू शेयरिंग बेसिस पर प्रत्येक किलोमीटर के हिसाब से चंडीगढ़ में चलाया जाएगा।
प्रद्युम्न सिंह, डायरेक्टर ट्रांसपोर्ट

खबरें और भी हैं...