सिटी ब्यूटीफुल में दौड़ेगीं 20 इलेक्ट्रिक बसें:ट्रायल के रूप में दौड़ रही थी एक; कोई अतिरिक्त चार्ज नहीं देना होगा, ISBT-43 और 17 पर बनाए गए चार्जर प्वाइंट

चंडीगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिखने में ऐसी हैं इलेक्टिक बसें। - Dainik Bhaskar
दिखने में ऐसी हैं इलेक्टिक बसें।

चंडीगढ़ में एक अक्टूबर से 20 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ेंगी। अब तक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में एक ही बस दौड़ रही थी। अब बाकी की 19 बसें भी शहर में अलग-अलग रूप पर दौड़ेंगी। जल्दी ही चंडीगढ़ ट्रांसपोर्ट अंडरटेकिंग (सीटीयू) को बसें मिल जाएंगी। गत 11 अगस्त को तत्कालीन प्रशासक ने पंजाब राजभवन से सेक्टर-17 पुलिस स्टेशन तक इलेक्ट्रिक बस में सफर करके इसका ट्रायल किया था।

अक्तूबर के आखिर तक संख्या बढ़कर 40 होगी
बता दें कि सितंबर के आखिर तक इलेक्ट्रिक बसों की संख्या 20 तक पहुंच जाएगी। इसके बाद अक्तूबर महीने के आखिर तक संख्या बढ़कर 40 हो जाएगी। इन बसों की खास बात यह होगी कि इनमें किराया उतना ही लगेगा, जितना डीजल बस में लगता है। पर्यावरण प्रदूषण भी नहीं होगा। बस में होने वाले शोर से भी लोगों को निजात मिल जाएगी।

ट्रायल के रूप में इस बस में तत्कालीन प्रशासक राजभवन से पहुंचे थे सेक्टर-17 - फाइल फोटो
ट्रायल के रूप में इस बस में तत्कालीन प्रशासक राजभवन से पहुंचे थे सेक्टर-17 - फाइल फोटो

ISBT-43 (बस स्टॉप) और 17 पर बनाए गए चार्जर प्वाइंट

इलेक्ट्रिक बस को अशोक लेलैंड कंपनी ने तैयार किया है। एक बस को चार्ज होने में दो घंटे लगते हैं। चार्जिंग के लिए फास्ट चार्जर प्वाइंट ISBT-43 (बस स्टॉप) और 17 पर बनाए गए हैं। एक बार फुल चार्ज होने के बाद बस 180 किलोमीटर का सफर तय कर सकती है। ऐसा कहा जा सकता है कि एक बार चार्ज करने के बाद यह दिनभर रूट पर चलती रहेगी। फिर शाम को ही इसे दोबारा चार्ज करने की जरूरत रहेगी। जब बसों की संख्या बढ़ जाएगी तो रोटेशन वाइज यह चलती रहेगी।

60 रुपए प्रति किलोमीटर का खर्च कंपनी को देगा प्रशासन

दावा किया जा रहा है कि इलेक्ट्रिक बस फुली मेड इन इंडिया है। चंडीगढ़ प्रशासन ने इस बस को खरीदा नहीं है, बल्कि 60 रुपए प्रति किलोमीटर के खर्च पर इस बस को चलाया जाएगा। बस के अंदर ड्राइवर कंपनी का होगा, जबकि कंडक्टर सीटीयू का होगा। टिकट रेवेन्यू का सारा काम सीटीयू ही देखेगी। चाहे मुनाफा हो या नुकसान कंपनी को प्रति किलोमीटर 60 रुपए देने होंगे। मेंटेनेंस का काम कंपनी का होगा।

रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन सब फ्री

चंडीगढ़ प्रशासन ने इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए पॉलिसी बना रखी है। इसके तहत सभी वाहनों को रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस में छूट दी गई है। इन वाहनों की नंबर प्लेट हरे रंग की होती है। पार्किंग फीस और टोल टैक्स में भी छूट दी जाती है।

36 से 54 लोगों के बैठने की जगह

कंपनी के अनुसार बस में 36 लोगों के बैठने की जगह है और अधिकतम 54 लोग सफर कर सकेंगे। बस दो से तीन घंटे में फुल चार्ज हो जाएगी और एक बार चार्ज होने के बाद बस करीब 180 किलोमीटर चलेगी।

खबरें और भी हैं...