• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • 209 Bus Queue Shelters Will Be Built In Chandigarh In A Year, People Will Be Able To Avoid The Sun And Rain; Construction Started With Land Worship

चंडीगढ़ में बनेंगे 209 बस क्यू शैल्टर्स:1 साल में मिल जाएंगे; धूप-बारिश से बचाएंगे; भूमि पूजन के साथ निर्माण शुरू

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के कई बस क्यू शैल्टर्स पर भिखारियों का कब्जा है। - Dainik Bhaskar
शहर के कई बस क्यू शैल्टर्स पर भिखारियों का कब्जा है।

चंडीगढ़ में बस स्टॉप सिर्फ यात्रियों को ही नहीं बल्कि धूप और बारिश में टू-व्हीलर चालकों के लिए भी शैल्टर बनता है। शहर में ज्यादातर बस स्टॉप खस्ताहालत में हैं और इनकी कमी भी है। इसे दूर करने के लिए अब चंडीगढ़ प्रशासन 209 बस क्यू शैल्टर्स बनाने जा रहा है। इसका शुभारंभ चंडीगढ़ प्रशासक के सलाहकार धर्म पाल निर्माण कार्य के भूमि पूजन के साथ कर चुके हैं।

इन शैल्टर्स का डिजाइन काफी सोच समझ कर तैयार किया गया है ताकि इनकी मजबूती बनी रहे। वहीं इनके निर्माण के दौरान शहर की हेरिटेज छवि का भी ध्यान रखा जाएगा। प्राप्त जानकारी के मुताबिक नए बस शैल्टर्स ईंटों की बजाए कंक्रीट के बनाने पर विचार हो रहा है जैसे शहर के पुराने बस क्यू शैल्टर्स हैं। चंडीगढ़ का डिज़ाइन तैयार करने वाने फ्रेंच आर्किटैक्ट स्व. ली कार्बूजिए के आर्किटेक्चरल मॉडल को ध्यान में रख कर इनका निर्माण किया जाएगा।

गांवों में भी बनेंगे बस क्यू शैल्टर्स

शहर के कई सेक्टरों, कालोनियों और गांवों की सड़कों के किनारे इनका निर्माण किया जाएगा। इन बस क्यू शैल्टर्स को यूजन फ्रेंडली और दिव्यांग जनों की सुविधा के मुताबिक डिजाइन किया जाएगा। इनकी टैक्टाइल फ्लोरिंग होगी। यात्रियों के बैठने की उचित व्यवस्था भी इन शैल्टर्स में होगी और लाइटिंग का भी प्रबंध होगा ताकि रात के समय भी यह दूर से नजर आए। इनमें रियल टाइम बस इन्फॉर्मेशन सिस्टम भी होगा ताकि सही वक्त पर बसें मिल सकें। इसके लिए यूटी का ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट काम कर रहा है।

इन शैल्टर्स के बनने से शहरवासियों की बस शैल्टर्स की लंबित मांग पूरी हो पाएगी। लगभग 1 साल में यह शैल्टर्स बन कर तैयार हो जाएगें। जानकारी के मुताबिक 7 से 8 करोड़ रुपए में यह शैल्टर्स बन कर तैयार होंगे। वहीं दूसरी ओर शहर में मौजूदा बस क्यू शैल्टर्स के खस्ताहाल भी चिंता का विषय है। ऐसे में प्रशासन करोड़ों रुपए की लागत से उनकी भी मरम्मत करेगा।

बस क्यू शैल्टर्स को भिखारियों से मुक्त करवाना 'चुनौती'

चंडीगढ़ में कई बस क्यू शैल्टर्स ऐसे हैं जहां पर भिखारियों का कब्जा है। यहां वह दिन के समय भी सीट पर लेट नजर आते हैं। वहीं उनके बोरे-बिस्तरे भी यहीं पड़े होते हैं। इनमें से कई मानसिक रुप से बीमार भी होते हैं। कई बार यात्रियों के साथ वह बुरी तरह भी पेश आते हैं। इसके चलते यात्री बस स्टॉप के बाहर ही खड़े होकर बस का इंतजार करते नजर आते हैं। चंडीगढ़ प्रशासन के लिए बस क्यू शैल्टर्स को भिखारियों से मुक्त करवाना एक बड़ी चुनौती है।