• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • 21816 Teachers Of Government Schools Will Also Have To Be Dosed; Essential For Teachers And Non Teachers In Schools

हरियाणा शिक्षा विभाग का बड़ा आदेश:शिक्षकों के लिए स्कूल में लगने वाले कैंपों में कोरोना वैक्सीनेशन कराना अनिवार्य, वैक्सीन लगवाकर ही विद्यालय में आएं

चंडीगढ़7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा में कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है। इस बीच जानकारी सामने आई है कि प्रदेश के 21816 सरकारी शिक्षकों ने अभी तक वैक्सीनेशन नहीं कराया है। जबकि स्वास्थ्य विभाग, शिक्षा विभाग के सहयोग से सरकारी स्कूलों में 15 से 18 आयु वर्ग के विद्यार्थियों के लिए वैक्सीनेशन कैंप लगा रहा है। इसलिए शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूलों के टीचरों को भी स्कूल में लगने वाले कोरोना वैक्सीनेशन कैंप में वैक्सीन लगानी अनिवार्य कर दी है।

शिक्षा निदेशालय के इस फैसले से उन 21816 टीचरों को भी डोज लगवानी पड़ेगी, जो अब तक डोज लगवाने से बचते आ रहे हैं। क्योंकि विभाग का आदेश है कि वैक्सीन लगवाकर ही स्कूल आएं। जब शिक्षक वैक्सीन लगवाएंगे तो विद्यार्थी भी उनसे प्रेरित होंगे। बता दें कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 104123 टीचर है। इसमें से करीब 28232 टीचर ने पहली डोज और 54075 ने दोनों डोज लगाई है।

अवसर ऐप पर डाटा रखा जाएगा मेंटेंन

हरियाणा के सरकारी स्कूलों के प्रिंसिपल को स्कूली बच्चों को लगी कोरोना वैक्सीन की डोज का रिकॉर्ड रखना होगा। प्रिंसिपल अवसर ऐप पर बच्चे का रिकॉर्ड मेंटेंन करेंगे और मुख्यालय को भेजेंगे। इस संबंध में स्कूल निदेशालय ने प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं।

यह डाटा भरना होगा

स्टूडेंट वैक्सीनेशन, क्लास, सेक्शन, नाम, डेट ऑफ बर्थ, पहली डोज, दूसरी डोज का रिकॉर्ड अवसर ऐप पर अपलोड किया जाएगा। बता दें कि सरकार ने स्कूलों में 10 जनवरी तक विशेष कैंप लगाने के निर्देश दिए हैं, ताकि 15 से 18 साल आयु वर्ग के ज्यादा से ज्यादा बच्चों को वैक्सीन लगाई जा सके। प्रदेश में करीब 15 लाख 40 हजार बच्चों को वैक्सीन लगाई जाने का लक्ष्य है। अब तक 2 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। 5 जनवरी को प्रदेश में 238393 लोगों को डोज लगाई गई, जिसमें 15 से 18 आयु वर्ग के बच्चे भी शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...