भाजपा को झटका:मोहाली नगर निगम चुनाव में खड़ी 4 भाजपा प्रत्याशियों ने नरेंन्द्र मोदी के तानाशाही रवैये से परेशान होकर आप का दामन संभाला

चंडीगढ़10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहाली नगर निगम चुनाव में खड़ी 4 महिला प्रत्याशियों ने भाजपा छोड़ आप का दामन पकड़ा। - Dainik Bhaskar
मोहाली नगर निगम चुनाव में खड़ी 4 महिला प्रत्याशियों ने भाजपा छोड़ आप का दामन पकड़ा।
  • चुनाव से दो दिन पहले मोहाली में भाजपा के चार प्रत्याशी हुए आप में शामिल
  • 2022 चुनाव में बीजेपी का पंजाब से हो जाएगा पूरा सफाया - हरपाल चीमा

आम आदमी पार्टी के चंडीगढ़ ऑफिस में आज मोहाली नगर निगम के चुनावों में खड़ी चार महिला प्रत्याशियों ने भाजपा का दामन छोड़ने का ऐलान किया। भाजपा छोड़ने वाली महिलाओं ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंदर मोदी के तानाशाही रवैया के चलते भाजपा को छोड़ रही है। नगर निगम के चुनाव के दो दिन पहले ऐन मौके पर पार्टी छोड़ने पर भाजपा को तगड़ा झटका लगा है।

आज आम आदमी पार्टी के चंडीगढ़ कार्यालय में इन प्रत्याशियों का स्वागत पार्टी के वरिष्ठ नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा ने किया। चीमा ने कहा कि आज देश का गरीब, किसान और हर एक आम जनता नरेंन्द्र मोदी की तानाशाही से परेशान है। मोदी ने देश के किसानों पर कृषि कानूनों को थोप दिया। जब किसान इन काले कानूनों के खिलाफ सड़क पर उतरे और मोदी सरकार का विरोध करना शुरु किया तो मोदी ने पहले किसानों को बदनाम करने के लिए उन्हें खालिस्तानी, आतंकवादी और गद्दार कहा। किसानों ने जब हार नहीं मानी तो उनपर भाजपा के गुंडों से हमले करवाए गए।

पार्टी में शामिल किया

पार्टी मुख्यालय में मीडिया की मौजूदगी में हरपाल सिंह चीमा ने मोहाली के वार्ड संख्या-9 की भाजपा प्रत्याशी रजिंदर कौर, वार्ड संख्या-21 की भाजपा प्रत्याशी कृष्णा रानी, वार्ड संख्या-23 की भाजपा प्रत्याशी परमजीत कौर और वार्ड संख्या-29 से भाजपा प्रत्याशी बिमला रानी को पार्टी में शामिल कराया। इन नेताओं के भाजपा छोड़ने पर उन्होंने कहा कि आज पंजाब की हर एक जनता नरेंन्द्र मोदी से नफरत कर रही है, लेकिन पंजाब भाजपा के अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कभी भी पंजाब के लोगों की आवाज को प्रधानमंत्री मोदी के सामने नहीं उठाया। आंदोलन करने वाले 200 से ज्यादा किसान शहीद हो गए लेकिन अश्विनी शर्मा ने सहानुभूति तक नहीं जताई। इसी रवैये के कारण आज भाजपा के नेता लगातार पार्टी छोड़ रहे हैं।

सांसद सन्नी देयोल पर प्रहार

चीमा ने कहा कि पंजाब भाजपा के किसी भी नेता ने किसानों के समर्थन में एक शब्द नहीं कहा। गुरदासपुर के भाजपा सांसद सनी देओल को जनता ने वोट देकर सांसद बनाया। पंजाब के लोगों ने देओल परिवार को बहुत मान-सम्मान और प्यार दिया, लेकिन उन्होंने पंजाब के लोगों के साथ गद्दारी की। मोदी सरकार की तानाशाही रवैये को अब लोग समझ गए हैं। आज पंजाब में भाजपा की ऐसी हालत हो गई है कि निकाय चुनाव में भाजपा नेता लोगों के विरोध के डर से वोट मांगने नहीं निकल रहे हैं। मोदी सरकार की तानाशाही पर अब लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया देना शुरु कर दिया है। चीमा ने कहा कि 2022 के चुनाव में भाजपा का पंजाब से पूरी तरह सफाया हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...