बापूधाम में व्यक्ति ने लगाया फंदा:घरवालों के दिए सुसाइड नोट में 4 लोगों को ठहराया जिम्मेदार, वीडियो का भी किया जिक्र

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
परिजनों की ओर उपलब्ध करवाया गया सुसाइड नोट। - Dainik Bhaskar
परिजनों की ओर उपलब्ध करवाया गया सुसाइड नोट।

चंडीगढ़ सेक्टर-26 की बापूधाम कॉलोनी में एक व्यक्ति ने घर में ही फंदा लगाकर जान दे दी। मृतक की पहचान मोहम्मद नसीम (50) के रूप में हुई है। मृतक के परिजनों ने पुलिस को एक सुसाइड नोट उपलब्ध कराया है, जिसमें चार लोगों को जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि मृतक पढ़ा-लिखा नहीं था।

पुलिस के अनुसार, कंट्रोल रूम पर सूचना मिली थी कि सेक्टर-26 थाना क्षेत्र के अतंर्गत बापू धाम कॉलोनी के घर में एक व्यक्ति ने फंदा लगा सुसाइड कर लिया। मौके पर पहुंची पुलिस को पता चला कि घरवाले फंदे पर लटक रहे व्यक्ति को उतारकर सेक्टर-16 अस्पताल ले गए हैं। अस्पताल में डॉक्टरों ने उस व्यक्ति को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सेक्टर-16 अस्पताल के शव गृह में रखवा मामले की जांच शुरू कर दी। मृतक मोहम्मद नसीम सेक्टर-26 मंडी में फलों की रेहडी लगाता था।

पुलिस के अनुसार मृतक के परिजनों ने एक सुसाइड नोट उपलब्ध करवाया है। नोट में एक वीडियो का जिक्र कर चार लोगों को मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। हालांकि सुसाइड नोट पर सवाल उठ रहे हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार मृतक पढ़ा-लिखा नहीं था। वह केवल हस्ताक्षर कर सकता था। ऐसे में बड़ा सवाल है कि आखिर मृतक ने एक पेज का सुसाइड नोट कैसे लिख दिया। उसके लिखावट के नाम पर पुलिस के पास केवल बैंक पासबुक पर किए हस्ताक्षर मिले हैं। जिस पत्र को सुसाइड नोट बताया जा रहा है, उसमें कहीं भी सुसाइड करने वाले व्यक्ति के हस्ताक्षर नहीं थे। अब पुलिस के सामने परेशानी आ रही है कि हैंडराइटिंग सैंपल के बिना एक्सपर्ट यह कैसे पुष्ट करेगा कि लिखावट मरने वाले व्यक्ति की है या नहीं। सूत्र बताते हैं कि उपलब्ध सुसाइड नोट में लिखावट भी दो प्रकार की है।