पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोविड़-19:मोहाली में 5 मौतें, ट्राईसिटी में 804 लोग संक्रमित, चंडीगढ़ में स्कूल 5 तक बंद

चंडीगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हफ्ते दर हफ्ते चंडीगढ़ में कोरोना केस में 27% की बढ़ोतरी, मौतें 180% तक बढ़ गईं

बुधवार को ट्राईसिटी में 804 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। वहीं, चिंता की बात यह है कि मोहाली में एक ही दिन में 5 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। मोहाली में 254, पंचकूला में 287 और चंडीगढ़ में 266 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। चंडीगढ़ में पिछले 12 दिन से शहर में 200 से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज आ रहे हैं।

पिछले तीन दिन में 805 मरीज पॉजिटिव आ चुके हैं। शहर में अभी तक 26999 मरीज अभी तक पॉजिटिव हो चुके हैं। एक्टिव मरीजों की संख्या 2918 हो गई है। कोरोना के कारण अब तक शहर में 379 मरीज दम तोड़ चुके हैं।

शहर में 24 घंटों के दौरान 2065 सैंपलों की जांच हुई। बुधवार को शहर में 179 मरीज ठीक होकर अपने-अपने घरों को लौट गए। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चंडीगढ़ एजुकेशन डिपार्टमेंट ने शहर के सभी स्कूलों को बंद रखने के आदेशों को 5 अप्रैल तक बढ़ा दिया है।

बढ़ते कोरोना मामलों का असर: स्कूलों में देरी से शुरू होगा नया सेशन

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए चंडीगढ़ एजुकेशन डिपार्टमेंट ने शहर के सभी स्कूलों को बंद रखने के आदेशों को 5 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। इससे पहले 22 मार्च को डिपार्टमेंट ने आदेश जारी किए थे कि 31 मार्च तक सभी स्कूल बंद रहेंगे। इसके बाद बुधवार को डिपार्टमेंट ने 5 अप्रैल तक स्कूल बंद रखने के नए आदेश जारी किए।

डिपार्टमेंट के इस फैसले से नया सेशन भी देरी से शुरू होगा। शहर के सभी सरकारी स्कूलों में लगभग सभी क्लासेज के एग्जाम हो चुके हैं और स्टूडेंट्स को अगली क्लासेज में प्रमोट कर दिया गया है। ऐसे में जो सेशन 1 अप्रैल से शुरू होना था, वह 5 के बाद ही शुरू होगा। मौजूदा स्थिति को देखते हुए स्कूलों के शुरू होने में और देरी भी हो सकती है। 9वीं-11वीं के एग्जाम बाकी शहर के सभी प्राइवेट स्कूलों में एग्जाम हो चुके हैं।

केंद्र से आई टीम ने कहा-हर मरीज की कॉन्टैक्ट हिस्ट्री तलाशो और टेस्ट करो

चंडीगढ़ | पंजाब की तरह चंडीगढ़ में भी कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। चंडीगढ़ में बिगड़ती स्थिति को लेकर बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की प्रमुखता में एक हाई लेवल मीटिंग हुई। इसमें नीति आयोग के मेंबर हेल्थ डाॅ. वीके पाॅल भी मौजूद रहे। प्रशासन से प्रिंसिपल सेक्रेटरी हेल्थ व बाकी हेल्थ डिपार्टमेंट के अफसर मौजूद रहे।

इस दौरान बताया गया कि चंडीगढ़ में हफ्ता दर हफ्ता नए कोरोना के मामलों में 27 फीसदी तक बढ़ोतरी हुई है, जबकि हर रोज हो रही मौतें 180 फीसदी तक बढ़ी हैं। हर रोज औसतन 257 नए मामले कोरोना के आ रहे हैं। मीटिंग में चंडीगढ़ के साथ-साथ पंजाब में कोविड की स्थिति को भी रिव्यू किया गया। मीटिंग में कहा गया कि चंडीगढ़ में भीड़ वाली जगहों पर रैपिड एंटीजन टेस्टिंग करवाए जाएं।

हर मरीज के पीछे 25-30 कॉन्टैक्ट ट्रेस करें

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने चंडीगढ़ प्रशासन के अफसरों को निर्देश दिए कि ट्रेसिंग को बढ़ाएं। बिना कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के कोरोना की चेन को तोड़ पाना मुश्किल होगा। निर्देश दिए गए हैं कि एक मरीज के पीछे कम से कम 25 से 30 क्लोज कॉन्टैक्ट को ट्रेस किया जाए। इसके अलावा स्क्रीनिंग और कंटेनमेंट जोन भी जल्द से जल्द बनाए जाने चाहिए।

5% तक पॉजिटिविटी रेट नहीं आ जाता तब तक टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट पर जोर रहे

चंडीगढ़ में पॉजिटिविटी रेट 12.88 फीसदी है। मीटिंग में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने प्रशासन को कहा है कि जब तक कोविड पॉजिटिविटी रेट 5 फीसदी तक नहीं आ जाता, तब तक टेस्टिंग को बढ़ाकर रखें। टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की स्ट्रेटेजी को पूरी तरह से लागू करें। आरटीपीसीआर टेस्ट 70 फीसदी तक बढ़ाने के लिए कहा गया है।

हाउस टू हाउस सर्विलांस शुरू करें

प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि कोरोना के मामलों का जल्द पता चल सके, इसके लिए प्रभावी तरीके से हाउस टू हाउस सर्विलांस शुरू करें। जहां भी जरूरत पड़ती है, वहां पर टेस्टिंग की जाए। जो पाॅजिटिव केस आते हैं, उनकी कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और आईसोलेशन को लेकर फौरन काम होना चाहिए। जहां ज्यादा मामले आ रहे हैं, वहां पर माइक्रो कंटेनमेंट जोन तय करने के लिए कहा गया है।

खबरें और भी हैं...