पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना काल में मिसाल:36 घंटे में बनाया 50 बेडेड हॉस्पिटल, सभी बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा

चंडीगढ़15 दिन पहलेलेखक: मनोज अपरेजा
  • कॉपी लिंक
सप्लााई के लिए ऑक्सीजन के 6 सिलेंडर रखे जाएंगे यहां - Dainik Bhaskar
सप्लााई के लिए ऑक्सीजन के 6 सिलेंडर रखे जाएंगे यहां
  • तेरा ही तेरा मिशन चैरिटेबल सोसायटी ने सेक्टर-23 बाल भवन में बनाया हाॅस्पिटल, आज से मरीजों के लिए हाे जाएगा शुरू

शहर में काेराेना के मरीज तेजी से बढ़ रहे हैं। मरीज बेड के लिए तरस रहे हैं। ऐसे में तेरा ही मिशन चैरिटेबल साेसायटी जाे कि गुुरु ग्रंथ साहिब सेवा साेसायटी चंडीगढ़ का हिस्सा ने मिसाल कायम करते हुए मात्र 36 घंटे में 50 बेडेड हाॅस्पिटल बना दिया है। हाॅस्पिटल में हर बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध हाेगी।

काेविड-19 स्पेशलाइज्ड डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ की तैनात किया गया है। तीन स्पेशलाइज्ड डाॅक्टर की टीम 24 घंटे मौजूद रहेगी। एक रूम में चार बेड लगाए गए हैं। हर रूम में पेशेंट माॅनिटर लगाए गए हैं। साेसायटी के ट्रस्टी एचएस सभरवाल ने बताया कि यहां पर रुटीन में इस्तेमाल हाेने वाली मेडिसिन और काेराेना से संबंधित सभी जरूरी दवाएं और इक्युपमेंट कराए गए हैं।

साथ ही पेशेंट काे हाईजीन डाइट फ्रूट, सूप और खाने का प्रबंध किया गया है। प्रशासन ने उनके समक्ष यह ऐसे सेंटर काे बनाने का प्रस्ताव रखा था। जिसमें उन्हाेंने 50 बेड का तेरा ही तेरा काेविड केयर सेंटर बनाने की बात कही थी। लेकिन साेसायटी ने मरीजों के हित में यहां पर राताें रात हर बेड पर ऑक्सीजन की व्यवस्था भी कर दी है।

यह सभी सुविधाएं मरीजों काे निशुल्क मुहैया करवाई जाएंगी। ट्रस्टी एचएस सभरवाल ने बताया कि साेमवार दाेपहर 1 बजे के बाद से यहां मरीजों काे एडमिशन शुरू कर दी जाएगी। डाॅक्टराें की टीम साेमवार सुबह 8 बजे यहां पर जाॅइन कर लेगी।

ऐसे तैयार किया अस्पताल...

1 मई...

  • प्रशासन काेविड मैनेजमेंट के नाेडल अफसर यशपाल गर्ग ने उन्हें दाेपहर 11 बजे बाल भवन इन्हें साैंपा।
  • पूरे भवन की 8 डाेरमेट्री में चार-चार बेड और गद्दे आदि का प्रबंध किया गया। वर्किंग वुमन हाॅस्टल हाेने की वजह से यहां पर बेड पहले से रखे थे। इन्हें व्यवस्थित किया।
  • दाेपहर 1 बजे लेबर लगाकर सभी कमराें के साथ अटैच्ड वाॅशरूम में बिजली पानी की लाइनाें काे दुरुस्त किया गया।
  • शाम चार बजे सभी रूम में पर्दे और एग्जास्ट फेन लगवाए।
  • शाम साढ़े चार बजे बिजली सप्लाई बाधित न हाे, इसके लिए 62 केवी का एक जेनसेट लगवाया।
  • शाम पांच बचे से दवाइयाें की सप्लाई यहां मंगवानी शुरू कर दी।
  • दिल्ली से हर रूम में ऑक्सीजन की सप्लाई देने के लिए दिल्ली से एक टीम बुलाई गई। टीम ने पूरी रात हर कमरे में लगे चार-चार बेड पर ऑक्सीजन प्वाइंट्स बनाने के लिए लाइन बिछाई। पूरी टीम यहीं तैनात रही।

2 मई...

  • सुबह तक सभी रूम में ऑक्सीजन पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा हाे गया।
  • दाेपहर 12 बजे सभी रूम में मरीज बाेर न हाें इसके लिए हर कमरे में टीवी और केबल कनेक्शन लगवाए।
  • दाेपहर 2.30 बजे डाॅक्टर्स ने यहां पर मरीजों के लिए सभी जरूरी सुविधाओं का जायजा लिया। टीम ने मेडिकल सिस्टम में जहां-जहां कमियां थीं। उन्हें दूर करने के लिए जरूरी सामान की डिमांड की।
  • शाम चार बजे तक हर कमरे में ऑक्सीमीटर और बीपी इंस्ट्रूमेंट और ईसीजी मशीन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई।
  • शाम 5 बजे ऑक्सीजन 6 ऑक्सीजन सिलेंडर से बिछाई गई पाइप से जाेड़ दिया गया। हर प्वाइंट पर प्रेशर काे चैक कर लिया गया।
  • शाम 6 बजे ऑक्सीजन मास्क, जाे कि शहर में इस समय कहीं भी उपलब्ध नहीं हैं, वह भी साेसायटी ने इंतजाम कर लगवा दिये।
  • शाम 7 बजे यहां आने वाले मरीजों और डाॅक्टराें के लिए पीपीई किट्स का इंतजाम कर लिया गया।
  • रात 10 बजे तक हाॅस्पिटल काे मरीजों के एडमिशन के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई।

जाे प्रशासन नहीं कर सका वह एक चैरिटेबल साेसायटी ने कर दिखाया

बेड का संकट पिछले कई दिन से चल रहा है। मरीजों काे बेड नहीं मिल रहे हैं। पीयू के इंटरनेशनल हाॅस्टल काे ऑक्सीजन की सुविध के साथ सेना के साथ मिलकर हाॅस्पिटल बनाने की बात चल रही है। लेकिन यहां पर ऑक्सीजन ताे है लेकिन प्रशासन काे ऑक्सीजन कनेक्टर न मिलने की वजह से ऑक्सीजन की सुविधा शुरू करने में दिक्कत आ रही है।

हालांकि यहां पर सामान्य लक्षण वाले मरीजों काे दाखिल कर दिया गया है। वहीं, हाेम कम हेल्थ सेक्रेटरी अरुण कुमार गुप्ता का कहना है कि प्रशासन इस दिशा में तेजी से फैसला ले रहा है। वहीं, जाे प्रशासन नहीं कर सका, वह चैरिटेबल साेसायटी ने कर दिखाया

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें