राहत / 9500 रजिस्टर्ड वेंडर्स की जून की लाइसेंस फीस की माफ, इससे एमसी को आना था 65 लाख रुपए

X

  • जून तक जुर्माना और चालान फीस भी माफ, एमसी के इस निर्णय से बेंडर्स को मिली बड़ी राहत

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

चंड़ीगढ़. टाउन वेंडिंग कमेटी ने लाइसेंसी 9500 वेंडर की जून माह की लाइसेंस फीस भी माफ कर दी। इससे एमसी को महीने में 65 लाख रुपया आना था वह भी नहीं आएगा। वहीं जून तक जुर्माना और चालान फीस माफ कर दी। इससे पहले निगम कमिश्नर केके यादव द्वारा अप्रैल और मई माह की लाइसेंस फीस माफ कर दी गई थी।

इसके अलावा लॉकडाउन के दौरान दूसरे ट्रेड वाले 650 वेंडर को सब्जी बेचने के लिए लाइसेंस दे दिए थे। अब अपनी मंडी खुलने तक वे शहर में सब्जी बेचते रहेंगे। टाउन वेंडिंग कमेटी ने बताया कि बुधवार को पंजाब के गवर्नर एवं प्रशासक पीएम-एसवीए निधि लांच करेंगे। 
टाउन वेंडिंग निगम कमिश्नर केके यादव की अध्यक्षता में हुई। इसे सभी कमेटी मैंबर ने अटेंड किया। इसमें सेक्टर 22 सी हेल्थ सेंटर के सामने 60 साल से चिक लगाने वालों को वहां परमिशन दिए जाने की मांग को रिजेक्ट कर दिया। इसके अलावा 3 हजार पेनल्टी के साथ पिछले पेंडिंग ड्यू को 31 अगस्त तक जमा करवाने के लिए अंतिम चांस देने के लिए लीगज एग्जामिन करवाया जाएगा। 
टाउन वेंडिंग कमेटी 25 करोड़ रुपया स्ट्रीट वेंडर की वैलफयर और विकास के लिए यूज करेगी। चार रजिस्टर्ड वेंडर ने एफिडेविट सबमिट किया है कि चार वेंडिंग साइड अप्रूव्ड नहीं है। इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट की ओर से वेंडिंग पर्पज के लिए सब्मिट की गई रिपोर्ट में। कमेटी ने संधोशित स्ट्रीट वेंडर  म्युनिसिपल कार्पोरेशन बाईलॉज 2018 को अप्रूव्ड कर दिया।

इस पर सहमति हुई कि अन रजिस्टर्ड वेंडर के खिलाफ एसएसपी, पुलिस डिपार्टमेंट और ट्रैफिक डिपार्टमेंट एक्शन ले। जबकि रजिस्टर्ड वेंडर को तंग न किया जाए। मनीमाजरा एरिया एसएचओ द्वारा रजिस्टर्ड  वेंडर को तंग नहीं किया जाए। टाउन वेंडिंग कमेटी मीटिंग को वीएन शर्मा, संगीता वर्धन, सीता राम, रामपाल, एसएसपी और ट्रैफिक पुलिस का प्रतिनिधि,एसडीएम और अन्य अधिकारियों ने अटेंड किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना