चंडीगढ़ के सेक्टर-8 में 98 साल की बुजुर्ग का मर्डर:नौकरों और बहू पर घूम रही शक की सुई, डॉग स्क्वायड घर बाहर नहीं निकला; गेट पर आकर बार-बार रूका

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटनास्थल पर लोगों से पूछताछ करते पुलिस अधिकारी। - Dainik Bhaskar
घटनास्थल पर लोगों से पूछताछ करते पुलिस अधिकारी।

शहर के सेक्टर-8 की कोठी नंबर 728 में रहने वाली 98 साल की जोगिंदर कौर की शुक्रवार रात को किसी ने गला रेतकर हत्या कर दी। मौके पर जांच करने के लिए खुद एसएसपी कुलदीप सिंह चहल, एसपी सिटी, डीएसपी समेत कई थाना प्रभारी पहुंचे थे। जब देर रात को डॉग स्क्वायड की टीम वहां पहुंची तो डॉग स्क्वायड घर में ही घूमते रहे और गेट तक आकर फिर अंदर लौट रहे थे। इस वजह से पुलिस की शक की सुई नौकर और बहु पर घूम रही है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि हत्या किसने और किन कारणों से की। पुलिस का दावा है कि बहुत जल्द आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

पूरी रात नौकरों और बहु से की गई पूछताछ
पुलिस सूत्रों की मानें तो पुलिस देर रात तक बहु और कोठी में रहने वाले नौकर-नौकरानी से पूछताछ करती रही। पूछताछ में नौकरानी भावना ने बताया कि वह रोजाना की तरह शाम को पार्क में सैर करने के लिए गई थी। जब वापस आई तो उसने देखा कि जोगिंदर कौर खून से लथपथ हालत में पड़ी थी। वहीं पुलिस ने मामले में यूके में रह रहे बेटे और आस्ट्रेलिया में रह रहे बेटी को सूचना दे दी है। बुजुर्ग के दोनों बच्चे सात समुंदर पार से चंडीगढ़ आएंगे। जिसके बाद शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

क्या है मामला
बुजुर्ग कोठी में अकेली रहती थी। पति मेहर सिंह की पहले ही मौत हो चुकी है। बेटा-बेटी विदेश में रहते हैं। वहीं उसने पति की पहली बत्नी से भी एक बेटा था। जिसकी मौत हो चुकी है। मृतक बेटे की पत्नी कोठी के अंदर ही आधे हिस्से में अकेली रहती है। वारदात के वक्त वह कहां थी, इस बारे में पुलिस पता कर रही है। कोठी के अंदर सर्वेंट क्वार्टर में नौकर-नौकरानी भी रहते हैं। इंडस्ट्रियल एरिया में काम करने वाला नौकर भरत वारदात के समय मौके पर नहीं था। उसकी पत्नी भावना पार्क में सैर करने गई थी। जोगिंदर कौर रोजाना ही अपने घर की लॉबी में पाठ करती थी। शुक्रवार की देर रात नौकरों ने जोगिंदर कौर को बेडरूम के दरवाजे पर खून से लथपथ हालत में गिरा हुआ देखा। ऐसा लग रहा था कि उन्हें लॉबी से घसीटकर बेडरूम तक ले जाने की कोशिश की गई हो।

रसोई में इस्तेमाल होने वाले चाकू का टूटा हुआ हिस्सा वहीं गिरा हुआ था। जोगिंदर कौर का वॉकर लॉबी में जमीन पर गिरा हुआ था। उससे कुछ दूरी पर जमीन पर चश्मा पड़ा था और बेड पर गुटका साहिब रखा था। कमरे का सामान बिखरा हुआ था। पुलिस सूत्रों का कहना है कि कत्ल की वजह लूट भी हो सकती है या फिर यह दिखाने की कोशिश की गई है कि लूटपाट हुई है।

वारदात इतनी सफाई से की किसी सीसीटीवी कैमरे में नहीं आई फुटेज
पुलिस का शक कोठी में रहने वालों पर इसलिए भी ज्यादा जा रहा है, क्योंकि कोठी के अगल-बगल के सभी कोठियों में सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं। वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी न तो घर के अंदर वाले किसी कैमरे में कैद हुए और न ही कोठी के बगल वाले घर में लगे कैमरे में दिखे। इससे काफी हद तक साफ हो रहा है कि हत्या करने वाला कोई घर के अंदर का ही है।

इस मामले में कोई बाहर से हत्या करने वाला नहीं है। क्योंकि जितनी सफाई से हत्या की गई है। वह घर के अंदर रहने वाला ही कर सकता है। हालांकि मामले में जांच की जा रही है। बहुत जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
केतन बंसल, एसपी सिटी

खबरें और भी हैं...