पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लॉरेंस बिश्नोई के करीबी ने मांगी रंगदारी:जेल में गैंगस्टर अंकित नरवाल ने रेमडेसिविर कालाबाजारी के आरोपी से मांगे 40 लाख; कैदी ने दो लाख खाते में डलवाए

चंडीगढ़18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की गिरफ्त में रेमडेसिविर दवा की कालाबाजारी करने वाले आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस की गिरफ्त में रेमडेसिविर दवा की कालाबाजारी करने वाले आरोपी।

चंडीगढ़ के सेक्टर-15 में हुए दोहरे हत्याकांड मामले में बुड़ैल की जेल में बंद कुख्यात अपराधी लॉरेंस बिश्नोई के करीबी गैंगस्टर अंकित नरवाल ने रंगदारी मांगी है। उसने रंगदारी मांगने का खेल जेल में बंद कैदी के साथ ही शुरू कर दिया है। अंकित ने जेल के अंदर से ही दूसरी बैरक में बंद रेमडेसिविर की कालाबाजारी के आरोपी फिलिप जैकब से 40 लाख मांगें हैं। साथ ही पैसे न देने पर जान से मारने की धमकी दी है।

धमकी के बाद फिलिप इतना डर गया कि उसने अपनी पत्नी के माध्यम से आरोपियों को दो किस्तों में दो लाख रुपए की फिरौती भी दे दी। फिरौती की तीसरी किस्त मांगने पर जैकब ने पुलिस को शिकायत दी। पुलिस ने जांच के बाद अंकित नरवाल व प्रभात त्यागी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। बताया गया कि जिस खाते में रुपए भेजे गए हैं, वह अंकित नरवाल की मां के नाम पर है।

बता दें कि गत 18 अप्रैल 2021 को चंडीगढ़ की ऑपरेशन सेल टीम ने केरल के कोट्टायम स्थित जनाथा रोड निवासी फिलिप जैकब, केपी फ्रांसिस, प्रभात त्यागी समेत अन्य को रेमडेसिविर दवा की कालाबाजारी में पकड़ा था। एक मई को जैकब कोरोना संक्रमित भी पाया गया था। इसके चलते उसका 20 मई तक जीएमएसएच-16 में इलाज चला। इसके बाद उसे बुड़ैल जेल के बैरक नंबर-9 में शिफ्ट कर दिया गया।

इसी बैरक में पहले से ही जैकब का साथी प्रभात त्यागी और केपी फ्रांसिस बंद थे। शिकायत में बताया गया कि प्रभात ने उससे आकर कहा कि इस बैरक में गैंगस्टर अंकित नरवाल है, जो कुख्यात अपराधी लॉरेंस बिश्नोई का करीबी है। अगर उसे 40 लाख रुपए नहीं दिए तो वह तुम्हें जिला अदालत में तारीख पर जाने के दौरान जान से मरवा देगा। उसके पूरे देश में तकरीबन छह हजार शूटर हैं।

इस बीच आरोपी लगातार जैकब को धमकाते रहे। इसके बाद अंकित ने जैकब को एक मोबाइल नंबर देकर बोला कि उसकी मां के खाते में दो बार में दो लाख रुपए डाले। जैकब की पत्नी ने विकास से संपर्क किया और रोहतक स्थित एचडीएफसी बैंक में कमला देवी के खाते में 18 जून को एक लाख और फिर 22 जून को एक लाख रुपए जमा करवा दिए। इसके बाद अंकित और प्रभात ने तीसरी किस्त में 10 लाख और मांगे। परेशान होकर जैकब ने पुलिस को शिकायत दी और मामले की जांच भी शुरू हो गई है।

खबरें और भी हैं...