पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Accused In Murder Case Sought Bail From The Court For Online Exam, The Judge Rejected, Saying – Arrangements Can Be Made For The Online Exam Only In Jail.

नहीं हुई सुनवाई:मर्डर केस में आरोपी ने ऑनलाइन एग्जाम के लिए कोर्ट से मांगी जमानत, जज ने की खारिज कहा-ऑनलाइन एग्जाम के लिए जेल में ही इंतजाम हो सकते हैं

चंडीगढ़25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दोनों पक्षों को सुनने के बाद जज ने कहा कि सुमित पर मर्डर जैसे गंभीर आरोप हैं, इसलिए उसे जमानत नहीं दी जा सकती। इसके अलावा जिस एग्जाम के लिए उसे जमानत चाहिए वे तो ऑनलाइन होने हैं। इसलिए ऑनलाइन एग्जाम के लिए उसे जमानत नहीं मिल सकती। - Dainik Bhaskar
दोनों पक्षों को सुनने के बाद जज ने कहा कि सुमित पर मर्डर जैसे गंभीर आरोप हैं, इसलिए उसे जमानत नहीं दी जा सकती। इसके अलावा जिस एग्जाम के लिए उसे जमानत चाहिए वे तो ऑनलाइन होने हैं। इसलिए ऑनलाइन एग्जाम के लिए उसे जमानत नहीं मिल सकती।
  • तीन साल पहले सेक्टर-49 के एक फ्लैट में स्टूडेंट लीडर विशाल चिल्लर की गोलियां मारकर की थी हत्या

सेक्टर-49 के एक फ्लैट में दो साल पहले DAV कॉलेज के स्टूडेंट लीडर विशाल चिल्लर की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। इस केस में जेल में बंद एक आरोपी सुमित कुमार ने कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी जो कि जज ने खारिज कर दी है। सुमित ने एग्जाम में अपीयर होने के नाम पर 9 से 18 जुलाई तक अंतरिम जमानत दिए जाने की मांग की थी।

सुमित का कहना था कि उसके BA सेकेंड सेमेस्टर के फाइनल एग्जाम हैं। जिसके लिए उसे पंजाब यूनिवर्सिटी की ओर से रोल नंबर भी इश्यू हो चुका है। वहीं, दूसरी ओर सरकारी वकील ने उसकी जमानत अर्जी का विरोध करते हुए कहा कि उसे अगर जमानत दी गई तो वह शिकायतकर्ता और गवाहों को धमका सकता है। इसलिए उसे जमानत नहीं दी जानी चाहिए।

दोनों पक्षों को सुनने के बाद जज ने कहा कि सुमित पर मर्डर जैसे गंभीर आरोप हैं, इसलिए उसे जमानत नहीं दी जा सकती। इसके अलावा जिस एग्जाम के लिए उसे जमानत चाहिए वे तो ऑनलाइन होने हैं। इसलिए ऑनलाइन एग्जाम के लिए उसे जमानत नहीं मिल सकती। जज ने कहा कि अगर वह एग्जाम देना चाहता तो उसके लिए जेल में इंतजाम किए जा सकते हैं। हालांकि जेल में ऑनलाइन एग्जाम देने का खर्चा उसका अपना ही होगा।

7 आरोपियों पर चल रहा है मर्डर केस

सेक्टर-49 के फ्लैट में हुई हत्या के मामले में सुमित समेत 7 आरोपियों के खिलाफ ट्रायल चल रहा है। पिछले साल कोर्ट ने 7 आरोपियों सुदीप, नवीन, राहुल मांडा, सुमित कुमार, सुशील कुमार, रमनदीप और अमनदीप के खिलाफ IPC की धारा 147, 148, 149, 452, 302, 307 और आर्म्स एक्ट की धारा 25, 54 और 59 के तहत चार्जेस फ्रेम किए थे। मार्च, 2019 को विशाल चिल्लर की सेक्टर-49 के एक फ्लैट में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या से कुछ दिन पहले ही विशाल की हरियाणा पुलिस में कॉन्स्टेबल की पोस्ट पर सिलेक्शन हुई थी। इसी खुशी में उसने दोस्तों को पार्टी दी थी। उस रात उनके फ्लैट पर हमलावर आए और उस पर फायरिंग कर दी।

खबरें और भी हैं...