• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • After 15, curfew is set to increase in the state by April 30, the officers of the districts sent suggestions of CM

सख्ती / 15 के बाद प्रदेश में 30 अप्रैल तक कर्फ्यू बढ़ना तय, जिलों के अफसरों ने भेजे सीएम काे सुझाव

After 15, curfew is set to increase in the state by April 30, the officers of the districts sent suggestions of CM
X
After 15, curfew is set to increase in the state by April 30, the officers of the districts sent suggestions of CM

  • कोरोना का दंश, काेरोनावायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण अफसर सहमत
  • राहत की उम्मीद कम, कैप्टन 10 अप्रैल को कैबिनेट मीटिंग के बाद लेंगे अंतिम फैसला

दैनिक भास्कर

Apr 09, 2020, 02:44 AM IST

चंडीगढ़. (सुखबीर सिंह बाजवा) कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के मामलों को देखते हुए राज्य में लॉकडाउन और कर्फ्यू की अवधि बढ़ना लगभग तय माना जा रहा है, ताकि समय रहते ही इस वैश्विक महामारी पर काबू पाया जा सके। मौजूदा लॉकडाउन और कर्फ्यू की अवधि 15 अप्रैल को समाप्त हो रही है, लेकिन सरकार इसे बढ़ा सकती है, इसके लिए विभिन्न विभागों के अफसरों ने भी सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को लॉकडाउन और कर्फ्यू की समय सीमा बढ़ाने के लिए सुझाव दिया है। अब 10 अप्रैल को होने वाली कैबिनेट मीटिंग में सीएम इस पर अंतिम फैसला लेंगे, उसके बाद सभी विभागों को अगले आदेश जारी कर दिए जाएंगे। यह भी माना जा रहा कि मोहाली, नवांशहर, रोपड़, होशियारपुर, पठानकोट और मानसा में सबसे अधिक पॉजिटिव केस मिले हैं। इसलिए अगर कहीं कोई छूट देने की बात उठी भी तो इन जिलों को कर्फ्यू में रियायत नहीं दी जाएगी।

इन विभागों के अफसरों ने पत्र लिखकर दिए सुझाव
पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, लाेकलबॉडी, पब्लिक हेल्थ, एक्साइज एंड टैक्सेशन, फूड एंड सप्लाई के अफसरों, डीसी, एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओ और नायब तहसीलदारों की हुई अलग-अलग मीटिंगों में कोरोना की स्थिति और कर्फ्यू चर्चा हुई। इसके बाद पत्रों के जरिये सभी सीएम काे सुझाव भेजा है कि उनके क्षेत्रों में मामले बढ़ रहे हैं। अभी कर्फ्यू की अवधि बढ़नी जरूरी है।

कर्फ्यू की जरूरत, क्योंकि लोग घरों में नहीं रुक रहे  
कोरोनावायरस का संक्रमण विभिन्न रोक के उपायों बावजूद बढ़ रहा है। वहीं कुछ पाबंदियों के बावजूद लोग अपने घरों से निकल रहे हैं, जिसके लिए पुलिस प्रशासन को अधिक मशक्कत करनी पड़ रही है। प्रदेश के अस्पतालों और क्वारेंटाइन सेंटर्स में रखे गए मरीजों को देखते हुए यह जरूरी है कि वे किसी के संपर्क में न आए और यह तभी संभव है जब लॉकडाउन और कर्फ्यू जारी रहे। अगर कर्फ्यू हटाया जाता है तो मेल मिलाप के कारण संक्रमण बढ़ने का खतरा बढ़ सकता है।

कर्मचारियों के रेगलुर ऑफिस आने पर रहेगी पाबंदी

सरकार ने विभिन्न विभागध्यक्षों को आदेश दिया कि कार्यालयों में दो से अधिक कर्मचारियों की तैनाती पर पाबंदी लगाना सुनिश्चित करें। चाहें तो विभाग कर्मचारियों को टर्नवाइज बुला सकते हैं। पहले ऐसा 15 अप्रैल तक करने को कहा गया था लेकिन अब 30 अप्रैल तक के लिए कहा गया है। अगर कोई अधिकारी कर्मचारी नियमों का उल्लंघन करते पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सीएम ने मीडिया रिपोर्ट को किया खारिज
मीडिया रिपोर्टों को रद्द करते हुए कैप्टन ने कहा कि 14 अप्रैल के बाद कर्फ्यू बढ़ाने पर फैसला 10 अप्रैल को मंत्रिमंडल की मीटिंग में होगा। कर्फ्यू बढ़ाने का अनुमान आम राज्य प्रबंधन विभाग द्वारा कर्मियों को जारी सलाह के बाद शुरू हुआ। उनकी हिदायतों पर सलाहकारी तुरंत वापस ले ली थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना