• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Amarinder Said Secret Meetings Held In Sidhu Kejriwal, All Doors Closed On My Behalf, Unilateral Decision On Indecency

सियासत की बरगाड़ी:अमरिंदर ने कहा सिद्धू-केजरीवाल में हो चुकीं गुप्त बैठकें, मेरी ओर से सभी दरवाजे बंद, बेअदबी पर फैसला एकपक्षीय

चंडीगढ़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर कुछ दिन पहले की है। - Dainik Bhaskar
तस्वीर कुछ दिन पहले की है।
  • विधायक परगट ने खोला मोर्चा तो कैप्टन ने खोले पत्ते

सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लगातार दूसरे दिन नवजोत को मौका परस्त बताते हुए कहा, मुझ पर सियासी हमलों से साफ है कि वे मेरी लीडरशिप को चुनौती दे रहे हैं। कैप्टन ने कहा-मुझे 3-4 बार यह जानकारी मिली है कि नवजोत सिद्धू से आप के सुप्रीमो और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कई गुप्त मीटिंग की है। साफ है, मेरे लिए सिद्धू के लिए सभी दरवाजे बंद है। सिद्धू पटियाला से चुनाव लड़ने की तैयारी कर चुके हैं।

साफ है सिद्धू कांग्रेस से नही लड़ेंगे। मेरी चुनौती है मैं जमानत जब्त करवा कर, उसको वापस भेज दूंगा। कैप्टन-बादल में मैच फिक्स मैच होने संबधी कैप्टन ने कहा अगर फिक्स मैच होता तो मुझे अदालत से बरी होेने को 14 साल कानूनी जंग न लड़नी पड़ती। उन्होंने कहा, कोटकपूरा गोलीकांड में परकाश सिंह बादल की भूमिका की जांच की जा रही है। अगर अारोपी पाए गए तो इनका नाम एफआईआर और चालान में भी आएगा। मामले में हाईकोर्ट की 90 पेज की जजमेंट को पढ़ें तो साफ हो जाता है कि हाईकोर्ट का यह फैसला एकतरफा है।

कहा जा रहा आपत्ति है तो इस्तीफा दे दें, पटियाला से सिद्धू के चुनाव लड़ने से क्या बेअदबी मसला हल हो जाएगा

परगट ने कहा कि 2017 के चुनाव कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाम से जीती गई थी लेकिन आज सरकार में इच्छाशक्ति की कमी है। परगट ने कहा, यह भी कहा जाता है कि यह बादल और कैप्टन का फिक्स मैच है और अगर ऐसी धारणा बनी है तो इसे तोड़ने की जिम्मेदारी खुद कैप्टन व सरकार की है।

परगट बोले- कहा जा रहा आपत्ति है तो इस्तीफा दे दें, सिद्धू के चुनाव लड़ने से बेअदबी मसला हल होगा?

नवजोत सिद्धू के बाद बुधवार को विधायक परगट सिंह ने भी बेअदबी मामले में कहा कैप्टन अपनी ही विश्वसनीयता का सर्वे करवा लें तो पता चल जाएगा, कांग्रेस कहां खड़ी है। नेताओं ने जनता में जाना है लेकिन यह कहा जा रहा है कि अगर किसी को आपत्ति है तो वह इस्तीफा दे दें। परगट ने कहा, अगर सिद्धू वहां से चुनाव लड़ भी लेते हैं तो क्या बेअदबी-गोलीकांड मामला हल हो जाएगा। कैप्टन गृहमंत्री भी हैं। इसलिए कोटकपुरा व बहबलकलां मामले में जो हुआ है, उसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

जेजे सिंह बोले- आप बादलों के साथ घी-खिचड़ी

पूर्व आर्मी चीफ जेजे सिंह ने सोशल मीडिया पर कहा-सारा पंजाब जानता है, आप बादलों के साथ घी-खिचड़ी हो। मैंने तो मामूली चुनाव हारा है, पर आप तो जमीर हार चुके हैं।

फिर जांच कर चालान पेश होना चाहिए उन्होंने कहा, मेरा मानना है, हाईकोर्ट ने जो भी आदेश दिए हैं, उसके अनुसार सरकार को तुरंत मामले में जांच करानी चाहिए और जो कोई भी ठोस तथ्य या सबूत पेश नहीं किए जा सके हैं, उन्हें जुटा कर कोर्ट में चालान पेश करना चाहिए ताकि दोषियों को तुरंत सजा मिल सके ओर जनता का कांग्रेस का विश्वास बढ़ सके। उन्होंने कहा कि एसआईटी की पूरी जिम्मेदारी किसी को तो लेनी ही पड़ेगी, इसलिए जो कुछ भी हुआ कैप्टन अमरिंदर सिंह को इसकी पूरी जिम्मेदारी लेनी चाहिए।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...