• Hindi News
  • Local
  • Chandigarh
  • Amarinder Will Also Feed Lotus In Uttarakhand UP, Will Campaign For BJP In Sikh dominated Seats, PM Modi Should Also Campaign For Them In Punjab

उत्तराखंड-UP में भी कमल खिलाएंगे अमरिंदर:सिख बहुल सीटों पर करेंगे BJP का प्रचार, PM मोदी भी उनके लिए पंजाब में करेंगे प्रचार

चंडीगढ़9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कैप्टन अमरिंदर सिंह - Dainik Bhaskar
कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सियासी दांव खेलने शुरू कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि अगले विस चुनाव में वह उत्तर प्रदेश (UP) और उत्तराखंड में भाजपा के लिए वोट मागेंगे। वह सिख बहुल क्षेत्रों में BJP का प्रचार करेंगे।

कैप्टन ने यह भी कहा कि मैं चाहता हूं कि PM नरेंद्र मोदी भी उनके लिए पंजाब आकर प्रचार करें। मेरे लिए कांग्रेस पर हमला करना आसान है। मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं है। राजनीतिक सिस्टम भी वकीलों की तरह काम करता है। आप जिस तरफ हो, उनका बचाव कर सामने वाले पर हमले करने होते हैं।

कैप्टन ने कहा कि कांग्रेस का अगला टारगेट राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होंगे।
कैप्टन ने कहा कि कांग्रेस का अगला टारगेट राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत होंगे।

कांग्रेस का अगला टारगेट गहलोत
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस मजबूत नेतृत्व को बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसी वजह से उनका अगला टारगेट अब राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत होंगे। उन्होंने गहलोत की तारीफ की।

मैं CM चेहरा नहीं
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि अगले विस चुनाव में वे सीएम चेहरा नहीं होंगे। पंजाब में वे भाजपा और अकाली दल के टूटे ग्रुप के साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। तीनों के अलग-अलग चुनाव निशान होंगे।

पीएम मोदी के साथ अमरिंदर के अच्छे रिश्ते हैं।
पीएम मोदी के साथ अमरिंदर के अच्छे रिश्ते हैं।

अकाली दल के साथ नहीं जाऊंगा
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वो किसी भी स्थिति में अकाली दल के साथ नहीं जाएंगे। उनके कामकाज का तरीका मुझे बेहतर ढंग से पता है। उन्होंने कहा कि मेरी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से बात हुई है।भाजपा अकाली दल छोड़ने वाले ग्रुप से समझौता कर रहा है। भाजपा के अकाली दल के साथ दोबारा गठजोड़ की बात नहीं हुई।

अपनी पार्टी बना चुके अमरिंदर
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि वे सोनिया गांधी को अच्छी तरह से जानते हैं। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी जब बच्चे हैं, तब से उन्हें जानते हैं। उनकी पीठ में छुरा घोंपा गया। इस वजह से उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी। इसके बाद कैप्टन अपनी पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी बना चुके हैं, जिसके जरिए भाजपा से गठजोड़ कर विधानसभा चुनाव लड़ेंगे।

खबरें और भी हैं...