मॉब क्लब के बाहर फायरिंग:आरोपियों को हथियार और पनाह देने वाला फिरोजपुर निवासी प्रताप गिरफ्तार, वारदात में नहीं था शामिल

चंडीगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर

चंडीगढ़ में सेक्टर-26 स्थित मॉब क्लब के बाहर फायरिंग मामले में पुलिस ने आरोपियों को पनाह और हथियार देने वाले को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान फिरोजपुर निवासी प्रताप के रूप में हुई है। प्रताप वारदात में शामिल तो नहीं था। लेकिन वारदात को अंजाम देने के लिए जो पिस्टल इस्तेमाल की गई थी, वह इसी की लाइसेंसी पिस्टल थी। आरोपियों ने इससे पहले भी इसी लाइसेंसी पिस्टल से एक आपराधिक वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार किए गए आरोपी ने न केवल वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों को पनाह दी, बल्कि पुलिस के वहां पहुंचने से पहले ही उन्हें फरार होने में मदद भी की। वहीं गोली चलाने वाले आरोपी नरेंद्र उर्फ साजन ,नितिन और दीपू की तलाश में पंजाब में लगातार छापामारी करने में पुलिस टीम जुटी हुई है। बता दें कि कार पर पैर रख जूते की लेस बांधने के चलते हुई कहासुनी के दौरान आरोपी युवक को गोली मारकर फरार हो गए थे।

क्या है पूरा मामला...

अंबाला निवासी सिमरनप्रीत सिंह पंचकूला एमडीसी में अपने मामा के घर आया हुआ था। पीड़ित युवक ने बताया कि 30 अक्टूबर की रात करीब 8:30 बजे वह अपने मामा के बेटे साहब जीत सिंह के साथ सेक्टर-26 स्थित मॉब क्लब में खाना खाने के लिए आया था। रात करीब 12:00 बजे वह अपने मामा के बेटे के साथ क्लब से बाहर निकला। इस दौरान उसने देखा कि कुछ लोगों की आपस में बहस हो रही है। पीड़ित युवक के मुताबिक, उसके जूते की लेस खुली हुई थी, जिसे बांधने के लिए उसने अपना पैर पार्किंग में खड़ी एक सफेद रंग की आई- 20 कार के ऊपर रखा। इस बीच तीन युवक उसके पास आकर उससे कार पर पैर रखने की बात को लेकर बहस करने लगे। बहस इतनी बढ़ गई कि आरोपी युवकों ने मजा चखाने की बात कही। इसके बाद 3 आरोपियों में से एक युवक ने पिस्टल निकालकर सिमरनप्रीत पर 3 फायर कर दिए।

खबरें और भी हैं...