पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्राइम:गुरलाल बराड़ हत्या मामले में बरामद बाइक कई बार बिकी, असली मालिक की तलाश जारी

चंडीगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 में हुई गुरलाल बराड़ की हत्या के बाद बरामद हुई बाइक के मालिक की पहचान नहीं हो पाई है। इंडस्ट्रियल एरिया थाना पुलिस ने शूटर्स की पहचान करने के लिए बाइक के आधार पर जांच की। पुलिस कई जगह पर पहुंची। जहां से पता लगा कि बाइक कई बार आगे बिक चुकी है। आखिरी बार बाइक यमुनानगर डिस्ट्रिक्ट में पड़ते जगाधरी में बिकी थी। अब पुलिस जगाधरी में बाइक के मालिक की तलाश कर रही है ताकि पता लग सके कि उसकी बाइक चोरी हुई थी या फिर वह गिरोह के साथ संपर्क में था।

इसके अलावा दिलप्रीत के प्रॉडक्शन वारंट पर लाने की 19 अक्टूबर की तारीख है। जिसके बाद दिलप्रीत बाबा से इस बारे में पूछताछ की जाएगी। अभी पुलिस के पास शूटर्स का कोई सुराग नहीं है। बस पुलिस पहले दिन की इन्वेस्टिगेशन के आधार पर ही जांच करने में जुटी हुई है। हत्या के बाद सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर देवेंदर बंबीहा ग्रुप ने इसकी जिम्मेवारी ली थी। जिसके बाद से शूटर्स की पहचान करने में पुलिस जुटी हुई है।गोली चलाने वाला गिरफ्त से बाहर: सेक्टर-9 में डिस्क में हुए विवाद के बाद गोली चलाने का आरोपी अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। उसकी तलाश में सेक्टर-3 थाना पुलिस की टीम रेड कर रही है, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लग पाया है।

इस मामले में पुलिस उसके रिश्तेदारों के पास जाकर आ चुकी है, लेकिन वह वहां पर भी नहीं गया। पुलिस ने आरोपी के फोन को सर्विलांस पर लगाया हुआ है। इसके अलावा उसके बैंक अकाउंट के आधार पर जांच की जा रही है।

प्रशासक ने डीजीपी से मांगी रिपोर्ट- पिछले 3 साल में कितनी बार गोलियां चलीं, आरोपी पकड़े या नहीं ?

चंडीगढ़ में लगातार 2 दिन गाेली चलने के मामलों पर प्रशासक वीपी सिंह बदनोर ने चिंता जताई है। साथ ही चंडीगढ़ के डीजीपी संजय बेनीवाल को निर्देश दिए हैं कि वे इन मामलों में पुलिस जांच तेज करें, ताकि जल्द गुरलाल बराड़ की गोली मारकर हत्या करने वाले और सौरभ गुर्जर पर गोलियां चलाने वाले अपराधियों को गिरफ्तार कर सके। प्रशासक ने डीजीपी से पिछले 3 साल में गोली चलने की वारदात को लेकर रिपोर्ट तलब की है। डीजीपी को कहा गया है कि वे टाइम बाउंड तरीके से स्टेटस रिपोर्ट सबमिट करें।

पुलिस अधिकारियों ने की कोऑर्डिनेशन पर मीटिंग

गवर्नर के आदेश पर पुलिस हेडक्वार्टर से-9 में कोआॅर्डिनेशन मीटिंग आयोजित की गई। इस दौरान पंचकूला, मोहाली और चंडीगढ़ के पुलिस ऑफिसर्स ने कोआॅर्डिनेशन को और बेहतर कैसे किया जाए इस पर विचार किया। यह भी चर्चा की गई कि किस तरह से एक दूसरे के साथ अपराधियों के बारे में जानकारी को सांझा किया जा सके। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि मोहाली, पंचकूला के साथ मिलकर मीटिंग आयोजित की गई हो। इससे पहले भी मीटिंग हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...