राज्यसभा चुनाव:भाजपा ने राज्यसभा के लिए दोनों सीटों पर उतारे प्रत्याशी तो हो सकता है खेला

चंडीगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में राज्यसभा की दो सीटों के चुनाव पर सभी की नजरें हैं। अगर भाजपा दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतारती है तो खेला हो सकता है, हांलाकि इसके लिए भाजपा को निर्दलीयों को भी साथ चाहिए होगा। बीते दिनों भाजपा के दो उम्मीदवार उतारने के सवाल पर सीएम मनोहर लाल का समीकरण देखने का बयान व कुलदीप बिश्नोई की कांग्रेस की नाराजगी से सियासी हलचल मची है।

सीएम ने कुलदीप को अपना मित्र भी बताया था। इससे कांग्रेस भी अलर्ट है और एकजुटता दिखाने का प्रयास कर रही है। एक दिन पहले ही नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र हुड्‌डा ने कहा था कि कुलदीप कांग्रेस के विधायक हैं और पार्टी की 1 सीट पर जीत तय है।

भाजपा ने 1 प्रत्याशी उतारा तो मतदान की जरूरत नहीं
यदि दोनों पार्टियां एक-एक प्रत्याशी उतारती हैं तो मतदान की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि भाजपा-जजपा गठबंधन के पास विधायकों की संख्या ज्यादा है। दूसरी सीट के लिए 30 विधायकों की जरूरत होगी, इसलिए इतने विधायक कांग्रेस के पास हैं।

तीन प्रत्याशियों के मैदान में उतरने पर क्या होगा..
यदि भाजपा दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतारती है तो कई गुणा-भाग लगेंगे। पहले प्रत्याशी को भाजपा के 31 वोट मिलने पर उसकी जीत तय है। दूसरी सीट पर जीत के लिए 30 विधायकों की जरूरत होगी। यहां यदि कांग्रेस का एक विधायक भाजपा प्रत्याशी को वोट करता है और दो अनुपस्थित रहते हैं तो फिर इस सीट पर जीत के लिए 28 विधायकों की जरूरत पड़ेगी।

यहां कांग्रेस और भाजपा और बाकी सभी विधायकों की संख्या 28-28 रह जाएगी। जिसपर फैसला फिर ड्राॅ के जरिए होगा। यदि कांग्रेस के 4 विधायकों ने खेल किया और बाकी सभी वोट भाजपा को मिले तो दूसरी सीट कांग्रेस के हाथ से निकल जाएगी।

व्हिप जारी करने से भी वोटिंग में नहीं हो सकेगा बचाव, वोट रद्द रहना भी रहेगा फैक्टर
विधानसभा के रिटायर्ड एडिशनल सेक्रेटरी रामनारायण यादव का कहना है कि यदि कोई पार्टी विधायकों के लिए व्हिप जारी करती है और कोई नहीं पहुंचता है तो उसकी सदस्यता पर कोई आंच नहीं आती है। हां, पार्टी संबंधित के खिलाफ एक्शन ले सकती है, लेकिन एजेंट को वोट नहीं दिखता है तो विधायक का वोट रद्द हो जाता है।

स्याही बदल जाए तब भी वोट रद्द हो जाता है। जैसे 2016 में 16 वोट रद्द हो गए थे। भाजपा यदि दो प्रत्याशी उतारती है तो कांग्रेस के अलावा सभी वोट उसे मिलते हैं, ऐसी स्थिति में कांग्रेस के 3 वोट रद्द होने पर मामला ड्राॅ पर जाएगा और 4 रद्द हुए तो भाजपा का दूसरा प्रत्याशी जीत सकता है।

खबरें और भी हैं...